क्या आपको पता है मच्छर के काटने पर क्यों होती है खुजली?

नई दिल्ली: अक्सर लोग सोचते है कि मच्छर के डंक चुभने से जो दर्द का एहसास होता है उसी से खुजली होती है ऐसा नहीं है। आईये आपको बताते है कि आखिर क्यों मच्छर के काटने से आपके शरीर में खुजली शुरू हो जाती है। मच्छरों के आतंक से आप कभी न कभी जरूर परेशान हुए होंगे। गर्मियों और बरसात में ये मच्छर ज्यादा काटते है। दिखने में छोटे-छोटे ये मच्छर जब आपके शरीर पर काटते है , तो कैसी जलन और खुजली शुरू हो जाती है।

किन मच्छरों के काटने पर होती है खुजली

आप शायद जानकर हैरान हो जाएंगेकी नर मच्छर कभी काटते नहीं सिर्फ मादा मच्छर इंसानो को काटते है। दरअसल मच्छरो को जीने के लिए गर्म रक्त की जरूरत होती है। ज्यादातर गर्म रक्त वाले जानवरो के शरीर पे बाल अधिक होते हैं इसलिए मच्छर उन्हें आसानी से नहीं काट सकते मगर इंसानो के शरीर से रक्त पीना उनके लिए आसान हैं क्योकि इंसानो के बाल इतने घने नहीं होते है कि मच्छर के डंक त्वचा तक न पहुंच पाएं।

मच्छरों के काटने से क्यों होती है खुजली

मच्छरों के काटने से शरीर में खुजली शुरू हो जाती हैं क्योकि मादा मच्छर जब खुन पीने के लिए अपना डंक आपके शरीर में चुभाती है , तो त्वचा के ऊपरी परत पर छेद हो जाता है। आपके शरीर में कभी भी छेद हो तो, तुरंत खुन का थक्का जम जाता हैं। अगर ये थक्का जम जाये तो, ये मच्छर खुन नहीं पी सकेगी। इसलिए मच्छर अपने डंक से एक विशेष रसायन छोड़ते है, जो खुन को थक्का बनने से रोकता है। जब त्वचा में ये रसायन पहुंचता है तो रिएक्शन के फलस्वरूप उस जगह पर जलन और खुजली शुरू हो जाती है और वो जगह लाल होकर सूज जाता है।

क्या है वैज्ञानिक कारण

मादा मच्छर जब आपको कटती है, तब वो अपने आंगे के दोनों पैरो का इस्तेमाल करती है। उसके एक पैर से वो रसायन निकलता है जो आपके खुन को जमने से रोकता है और दूसरे पैर से खुन को चुसती है (जैसे आप नारियल पानी पीने के लिए पाइप इस्तेमाल करते हैं ) जी हां मच्छर के पैर पाइप की तरह काम करते हैं। उसी के सहारे वो आपके शरीर से खुन को चुसती है। मच्छर आपके शरीर से जो लार छोड़ती है, वो एंजाइम और प्रोटीन से बने होते हैं।

क्या करता है हमारा शरीर

ऐसा नहीं है कि जब मच्छर काटते है तो हमारा शरीर कुछ नहीं करता है और मच्छर को काटने देता है ,बल्कि जब मादा मच्छर कटती है, तो हमारा इम्यून सिस्टम भी मच्छर के लार को निष्क्रिय करने के लिए हिस्टमाइन नाम का द्रव छोड़ता है। इन्ही रसायनो के रिएक्शन की वजह से आपको देर तक तेज खुजली होती रहती है। इसी दौरान त्वचा पर आई सूजन आपके लिए जरुरी है क्योकि सूजन आने से केमिकल प्रभाव कम हो जाता है और खुजली थोड़े समय बाद शांत हो जाती हैं।

कैसे बचा जाए मच्छरों से

मच्छरों से होने वाली बिमारिओ को कम करने के लिए यह समझना जरुरी है की ये किट आखिर किस तरह का ब्यवहार करते है कीटनाशको के उपाय करने के आलावा इन्हे नियंत्रित करने के लिए जेनेटकली मॉडिफाइड बांझ मच्छर तैयार किए जा सकते है और कीडे खाने वाले छोटे कीटो का भी उपयोग किया जा सकता हैं। या अपने आस पास साफ सफाई रखना चाहिए और अपने अगल बगल में गन्दा पानी गढ़े में जमा करके नहीं रखना चाहिए।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper