क्या आप जानते हैं किन्नरों की लम्बी उम्र का राज़ ?

लखनऊ: क्या आप जानते हैं किन्नर की लम्बी उम्र का राज़ ? दक्षिण कोरिया में किन्नरों के ऊपर किये एक शोध से पता चला है की किन्नर सामान्य लोगो की तुलना में ज्यादा दिनों तक जीवित रहतें हैं शोध के अनुसार दुसरे लोगो की तुलना में बीस साल ज्यादा जीवित रहते हैं वैज्ञानिको का मानना है एक हार्मोन्स है जो’ पुरुष की उम्र को कम कर देता है हर संस्कृति और सभ्यता में किन्नर का अहम रोल होता है ये उनमे कुछ विशेष काम करते हैं जैसे की हरम की रखवाली करना किन्नरों की ये ख़ास जिम्मेदारी होती थी हरम मतलब वो जगह जहाँ शाही घरानों की महिलाएं रहती थी .

शोधकर्ता के अनुसार अगर बचपन में ही बालक के अंडकोष को नष्ट कर दिया जाये तो उनसे उनका विकास बाधित होता है और वह बालक कभी पूरी तरह से पुरुष नहीं बन पाते इस शोध से जुड़े एक वैज्ञानिक डॉक्टर का कहना है की उसमे महिलाओ जैसे कुछ लक्षण पाए जाते हैं जैसे उनकी मूंछ नहीं होती उनकी छाती बहुत बड़ी होती थी और उनकी आवाज़ काफी भारी होती थी वैज्ञानिको ने 64 वर्ष के शासन के दौरान शाही दरबार में काम करने वाले किन्नरों के बारे में उपलब्ध दस्तावेजो का अध्ययन किया .

अध्ययन में पता चला जो किन्नर उन शाही दरबारों में काम किया करते थे उन किन्नरों की ओसत आयु 70 वर्ष थी और उसमे 3-4 लोग सो से ज्यादा वर्षो तक जिंदा रहें थें किन्नरों की तुलना में कुलीन घरानों के पुरुष की उम्र 50 से थोड़ी ज्यादा थी जबकि शाही घरानों के पुरुष की ओसत उम्र 45 वर्ष थी हलाकि उस समय की महिलाओ के बारे में अभी तक कोई जानकारी नहीं है जिससे उनकी तुलना किन्नरों से की जा सके लगभग सभी समाज में महिलाओ की उम्र पुरुष के मुकाबले ज्यादा होती है लेकिन अभीतक इसका भी स्पष्ट कारण पता नहीं चला .

एक मत ये है कि ऐसा पुरुष में पाए जाने वाले हार्मोन्स टेस्टोरेंट के कारण होता हैं लेकिन इस बात के भी कोई पुख्ता सबूत नहीं हैं. लेकिन ऐसे काफी प्रमाण मिले हैं जिसके आधार पर ये कहा जा सकता है की पुरुषो में पाए जाने वाले हार्मोन्स टेस्टोरेंट उनकी उम्र को कम करता है शोधकर्ताओ के मुताबिक इस हार्मोन्स में पाया जाने वाला रसायन से ह्रदय को नुकसान पहुँचता है लेकिन टेस्टोरेंट की प्रकिर्या के बाद ये हार्मोन्स पैदा ही नहीं होता जिससे ना सिर्फ उनके शरीर में होने वाले नुकसान कम हो जाते हैं बल्कि किन्नर को उम्र भी लम्बी हो जाती है ब्रिटेन में बुढ़ापे पर शोध करने वाले वैज्ञानिको का कहना है की कोरिया में किया ये शोध बहुत रोचक है लेकिन किन्नरों की लम्बी आयु की वजह उनके जीवन जीने की पद्धति भी हो सकती है शोध के नतीजे कुछ सुझाओ ज़रूर देते हैं लेकिन निश्चित तौर पर ये नतीजे निर्णायक नहीं हैं .

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper