खुले में थूकना, पेशाब करना पड़ेगा भारी

लखनऊ: लखनऊ शहर में सार्वजनिक स्थानों पर गदंगी करना आपकोारी पड़ सकता है। यही नहीं इधर उधर दीवार किनारे टॉयलेट करने के दौरान अगर कोई टोके तो चौकिएगा नहीं। ऐसे लोगों पर स्मार्ट सिटी की तीसरी आंख से नजर रखी जाएगी। कमांड एंड कंट्रोल सेंटर से एक आवाज आपको ऐसा करने से रोक देगी। इसके बाद भी न मानने पर आपको जुर्माना भी देना पड़ सकता है। स्वच्छ भारत मिशन में शहर में बड़ी संख्या में सार्वजनिक व सामुदायिक शौचालय बनाए गए हैं। इसके बाद भी लोग सार्वजनिक स्थानों पर पेशाब करने से बाज नहीं आ रहे हैं।

केंद्र सरकार के आदेश पर स्वच्छता सव्रेक्षण 2020 में इस बार इस पर अंकुश लगाए जाने के निर्देश दिए गए हैं। इसी क्रम में नगर निगम, स्मार्ट सिटी के अंतर्गत शहर भर में कैमरे लगाएगा। परीक्षण के तौर पर स्मार्ट सिटी कार्यालय के पास दयानिधान पार्क के पास पहला कैमरा लगाया गया है। स्मार्ट सिटी के लिए टेक्नोसिस सिक्योरिटी सिस्टमस प्रा. लि. यह काम कर रही है। कंपनी के प्रतिनिधि सुनील ने बताया अभी ट्रायल के तौर पर कैमरा लगाया गया है। इस स्थान पर कोई भी पेशाब करता हुआ, कूड़ा फेंकने, गाड़ी खड़े करने पर उसे ऐसा करने से मना किया जाएगा।

कैमरे के जरिए कमांड एंड कंट्रोल सेंटर से नजर रखी जाएगी। कंट्रोल रूम से ऑपरेटर ऐसा करने से मना करेगा जबकि स्ट्रीट लाइट के पोल पर कैमरे व साउंड सिस्टम लगाया गया है। साफ्टवेयर के माध्यम से मोबाइल पर भी नजर रखी जा सकती है। सड़कों पर पान या गुटखा खाकर थूकना महंगा पड़ेगा। सड़क के बीच के डिवाइडर पान, मसाला के पीक से रंगे हुए हैं। यूपी इन्वेस्टर्स समिट के समय पूरे शहर को रंग रोगन कर चमकाया गया था।

एक-एक डिवाइडर व दीवार की रंगाई पुताई की गई थी मगर अभी यही थूक से गंदे हो चुके हैं। इंदौर, भोपाल, अहमदाबाद की तर्ज पर नगर निगम ऐसे लोगों से मौके पर ही जुमार्ना वसूलेगा। नगर आयुक्त व सीईओ स्मार्ट सिटी डॉ. इंद्रमणि त्रिपाठी ने बताया शहर को साफ सुथरा रखने व स्मार्ट सिटी बनाने के लिए इस प्रकार की कवायद शुरू की गई है। इसके अच्छे परिणाम सामने आएंगे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper