गठबंधन सरकार अपने वादों को पूरा करने में नाकाम: येद्दियुरप्पा

बेंगलुरु: कर्नाटक भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष बी. एस. येद्दियुरप्पा ने कहा है कि राज्य की जनता दल (एस) कांग्रेस गठबंधन सरकार जनता की आकांक्षाओं को पूरा करने में नाकाम रही है और लोकसभा चुनावों के बाद राज्य में नयी सरकार का गठन होगा।

येद्दियुरप्पा ने यहां प्रेस क्लब और रिपोर्टर्स गिल्ड की ओर से आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा, राज्य की भ्रष्ट गठबंधन सरकार को धन्यवाद जिसकी वजह से लोगों ने इन्हें वोट नहीं देने का मन बनाया है तथा लोकसभा चुनाव के बाद राज्य में नयी सरकार का गठन होगा। दोनों गठबंधन सहयोगियों में पहले ही काफी असंतोष पनप रहा है और यह आम चुनावों के बाद सामने आएगा।

उन्हाेंने किसानों का ऋण माफ नहीं करने के मसले पर राज्य सरकार को घेरते हुए कहा, “ राज्य सरकार ने 48000 हजार करोड़ रुपए का कर्ज माफ करने का वादा किया था लेकिन अब तक मात्र 4500 करोड रुपए ही माफ किए गए हैं। भाजपा नेता ने कहा कि राज्य में कृषि की हालत काफी खराब है और कृषि लागत काफी बढ़ गयी है लेकिन राज्य सरकार के पास किसानाें की समस्याओं का निपटारा करने का कोई समय नहीं है।

उन्हाेंने कहा कि पिछले पांच वर्षों में केन्द्र सरकार की उपलब्धियां काफी सराहनीय रही हैं और इसे देखते हुए कुल 28 सीटों में से पार्टी 22 से कम सीटें नहीं जीतेंगी। पिछले पांच वर्षों में केन्द्र सरकार के कड़े फैसलों की वजह से मुद्रास्फीति काफी कम हो गयी है और सकल घरेलू उत्पाद दर लगातार बढ़ रही है तथा विदेशी निवेश भी बढ़ रहा है।

उन्होंने कहा कि पार्टी आलाकमान ने राज्य में लगभग सभी उम्मीदवारों के नाम तय कर दिए हैं और कुछ स्थानों पर अगर कहीं कोई अंसतोष है तो उसे दूर कर लिया गया है तथा सभी कार्यकर्ता पार्टी की जीत तय करने में लगे हुए हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper