गणतंत्र दिवस पर वीरों को सलाम, पदक से किए जाएंगे सम्मानित

नई दिल्ली: गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर 54 लोगों को जीवन रक्षा पदक दिए जाने की घोषणा की गई है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सात लोगों को सर्वोत्तम जीवन रक्षा पदक, आठ लोगों को उत्तम जीवन रक्षा पदक तथा 39 लोगों को जीवन रक्षा पदक के लिए मंजूरी दी है। सर्वोत्तम जीवन रक्षा पदक में पांच लोगों को यह पुरस्कार मरणोपरांत दिया जा रहा है। इनमें केरल के मास्टर फिरूस, मेघालय के एस एल गार्डेव, मिजोरम के लाल रिम पुनिया, हरियाणा के मंजीत सिंह और जसबीर सिंह शामिल है। यह पदक किसी व्यक्ति के जीवन को बचाने के लिए दिया जाता है।

इसी के साथ 104 लोगों को अग्निशमन सेवा पदक दिए जाने की घोषणा की गयी है। इनमें से 13 लोगों को राष्ट्रपति का अग्निशमन सेवा पदक दिया जाएगा जबकि 29 लोगों को अग्निशमन सेवा पदक दिया जाएगा, 12 लोगों को अग्निशमन की विशेष सेवा के लिए राष्ट्रपति का पदक दिया जाएगा और 50 लोगों को उत्कृष्ट सेवा के लिए अग्निशमन पदक दिया जाएगा। इसके अतिरिक्त 49 लोगों को होम गार्ड और नागरिक रक्षा पदक दिया जाएगा। इनमें दो लोगों को राष्ट्रपति का विशेष पदक दिया जाएगा।

राष्ट्रपति का अग्निशमन सेवा पदक दिल्ली के दो, कर्नाटक के पांच, उत्तर प्रदेश के छह लोगों को दिया जाएगा। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद लेफ्टिनेंट कर्नल ज्योति लामा, मेजर केबी सिंह, सूबेदार एन सिंह, नाइक एस कुमार और सिपाही के ओराण को शौर्य चक्र से सम्मानित करेंगे। राष्ट्रपति जम्मू कश्मीर में विदेशी आतंकियों से लड़ते हुए शहीद हुए सूबेदार सोमबीर को मरणोपरांत शौर्य चक्र से सम्मानित करेंगे। सिपाही ओराण को यह सम्मान नियंत्रण रेखा पर अभियान के लिए मिलेगा। जिसमें उनकी बुलेटप्रूफ पटका पर एक गोली लगी था। इसके बाद उन्होंने नौ ग्रेनेड दागे और चार आतंकवादियों के हमले को विफल करते हुए दो आतंकियों को मार गिराया था। गणतंत्र दिवस के अवसर पर 108 पदकों के साथ जम्मू कश्मीर पुलिस को सबसे अधिक वीरता पदक प्रदान किए गए हैं और इसके बाद सीआरपीएफ को 76 पदक मिले हैं। यह जानकारी शनिवार को जारी एक आदेश में दी गई।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper