गन्ना किसानों ने की मुख्यमंत्री योगी की तारीफ, कहा – इस देश को आपकी लंबे समय तक है जरुरत

लखनऊ। ‘मुख्यमंत्री आपने पश्चिमी उत्तर प्रदेश में गुंडाराज से मुक्ति दी है, आपके राज में अपराधियों को या तो ऊपर का रास्ता दिखा गया है या फिर वो जेल में हैं। आप अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखें, इस देश को आपकी लंबे समय तक जरुरत हैं’ ये शब्द मुजफ्फरनगर के गन्ना किसान अरविंद मलिक के हैं। जिन्होंने शुक्रवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से बातचीत की और गन्ना भुगतान और गन्ना ई एप को लेकर मुख्यमंत्री को धन्यवाद कहा।

पूरी पारदर्शिता के साथ पेपर लेस पर्चियां हुई उपलब्ध
मुजफ्फरनगर के गन्ना किसान अरविंद मलिक ने मुख्यमंत्री योगी को धन्यवाद देते हुए कहा कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश में जो अपरहण का उद्योग चल रहा था, उस पर रोक लग चुकी है। पहली बार चीनी मिलों में रिकॉर्ड गन्ने की खरीददारी हुई और लॉकडाउन के दौरान भी चीनी मिलें चलती रहीं। उन्होंने कहा कि 40 साल में पहली बार गन्ना किसानों की उपज में बीस फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। ई-गन्ना ऐप के माध्यम से पूरी पारदर्शिता के साथ किसानों को पेपरलेस पर्चियां उपलब्ध हो सकी हैं।

कोरोना काल में नहीं रुका चीनी मिलों का पहिया
मेरठ के गन्ना किसान विनोद सैनी ने मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि कोरोना काल में जहां सारी औद्योगिक ईकाइयां बंद हो गई थी, उस वक्त भी प्रदेश में चीनी मिलों का पहिया नहीं रुका। यही नहीं गन्ना विभाग ने लॉकडाउन में नई तकनीक का प्रशिक्षण दिया है। उन्होंने कहा कि जिस तरह किसानों के लिए गन्ना मूल्य निर्धारित किया गया है, ऐसी ही सब्जी के लिए मूल्य निर्धारित कर दिया जाए।

देश की रीढ़ किसान है और किसान की रीढ़ आप
संभल के गन्ना किसान सुधीर त्यागी ने कहा कि मुख्यमंत्री जी आपने किसानों की सारी आवश्यकताओं को पूरा कराया है। आपने नेतृत्व वाली सरकार में समय से गन्ने की पेराई हो सकी है। इसके लिए धन्यवाद देता हूं। उन्होंने मुख्यमंत्री की तारीफ करते हुए कहा कि देश की रीढ़ किसान है और किसान की रीढ़ आप है।

योगी सरकार में मिल रहा सिख समाज को सम्मान
लखीमपुर खीरी के गन्ना किसान परविंदर सिंह ने सिख समाज को मिल रहे सम्मान को लेकर मुख्यमंत्री योगी को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि गन्ना किसानों को आसानी के साथ घर पर गन्ने की पर्चियां मिल रही है और किसानों का गन्ना सही समय पर चीनी मिलों तक पहुंच रहा है। उन्होंने गन्ने में माफिय़ागर्दी समाप्त होने को लेकर भी सीएम को धन्यवाद कहा।

ट्रेनिंग से हो रहा है गन्ना किसानों को फायदा
इसके अलावा अंबेडकरनगर, पीलीभीत, गोरखपुर, गोंडा, कुशीनगर के गन्ना किसानों ने ई-पर्ची की व्यवस्था की भी जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि ई-गन्ना एप और टोल फ्री नंबर शुरू होने की वजह से किसानों को बड़ी राहत पहुंची है। उन्होंने कहा कि घटतौली और गन्ना माफिया पर काफी अंकुश लगा है। गन्ना विभाग की तरफ से जो प्रशिक्षण दिया गया, उससे हमको फायदा मिला है। उन्होंने सरकार द्वारा गन्ना किसानों को दिए जा रहे प्रशिक्षण की भी तारीफ की।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper