गर्दन कटने के बाद भी एक सप्ताह से जिंदा है यह मुर्गा

थाइलैंड: सोशल मीडिया पर इन दिनों कटी गर्दन का एक मुर्गा चर्चा का विषय बना हुआ है। ताज्जुब की बात यह है कि गर्दन कट जाने के बाद भी यह मुर्गा एक हफ्ते से जिंदा है। मुर्गे के इसी जज्बे की वजह से इसे ट्रू वॉर्यिर का नाम दिया गया। यह मुर्गा थाइलैंड के रचाबुरी में मिला था और वहीं एक हमले में इस मुर्गे की गर्दन कट गई थी। किसी को भी अंदाजा नहीं था कि गर्दन कटने के बाद यह मुर्गा चंद घंटे भी जीवित बचेगा, लेकिन यह हफ्ते भर से जिंदा है।

एक डॉक्टर ने इस मुर्गे का इलाज किया और अब वह बिल्कुल स्वस्थ है। इस मुर्गे को अब बौध भिक्षुओं ने अडॉप्ट कर लिया है। वे इस मुर्गे को सिरिंज के जरिए खाने-पीने के लिए देते हैं। हाल ही में इस मुर्गे का एक विडियो भी सामने आया है, जिसमें उसे सिरिंज के जरिए खिलाया जा रहा है। इस मुर्गे को देख लोग यही सोच रहे हैं कि आखिर गर्दन न होने के बाद भी यह जिंदा कैसे है?

इसके पीछे वजह है कि मुर्गे की शारीरिक रचना। दरअसल मुर्गे का दिमाग उनके सिर में नीचे की तरफ होता है और सांस लेने जैसे कार्य सिर के पिछले वाले भाग से नियंत्रित होते हैं। ऐसे में अगर सिर का अगला भाग कट भी जाए तो वह काफी दिन तक जीवित रह सकते हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper