गलती से भी दोबारा गर्म न करें इन खाने की चीजों को, जान लीजिये इसके पीछे की वजह 

आमतौर पर खाना ज्यादा बन जाने पर हम उसे फ्रिज में रख देते हैं और बाद में उसे गर्म करके खा लेते हैं। खाने की बर्बादी न हो इसलिए हमलोग बासी खाना फिर से गर्म करके खा लेते हैं। लेकिन शायद आपको पता नहीं होगा कि बहुत से ऐसे खाद्य पदार्थ होते हैं जिनको यदि हम दोबारा गर्म करके खाते हैं तो वह हमारी सेहत पर बुरा असर डालते हैं।

खाने की कुछ चीजों को दोबारा गर्म करने पर उनमें मौजूद प्रोटीन खत्म हो जाता है वहीं, कुछ भोजन ऐसे भी हैं जिनमें मौजूद कुछ तत्व फिर से गर्म करने पर कैंसर कारकों में बदल जाते हैं। आइए जानते हैं कि खाने की वे कौन सी चीजें हैं जिन्हें दोबारा गर्म करने पर वह जहर के समान हो जाती हैं-

1) ज्यादातर लोग चिकन बहुत चाव से खाते हैं। लेकिन चिकन के बच जाने पर अगर आप उसे दोबारा गर्म करके खाते हैं तो जरा ठहरिए। दोबार गर्म करने के बाद चिकन में मौजूद प्रोटीन कॉम्पोजिशन बदल जाता है, जिससे आपको पाचन संबंधी समस्याएं हो सकती हैं।

2) भारत हर घर में आलू की सब्जी बनती है। आलू वैसे तो स्वास्थ्यवर्धक होता है लेकिन अगर इन्हें बनाकर बहुत अधिक देर तक रख दिया जाए तो इनमें मौजूद पोषक तत्व खत्म हो जाते हैं। इसे दोबारा गर्म करके खाने से पाचन क्रिया पर बुरा प्रभाव पड़ता है।

3) अगर आप चुकंदर को पका कर खाते हैं और खाने के बाद जब यह बच जाता है तो इसे दोबारा गर्म करके नहीं खाना चाहिए। ऐसा करने से इसमें मौजूद नाइट्रेट समाप्त हो जाता है।

4) मशरूम प्रोटीन का खजाना होता है। लेकिन इसे हमेशा फ्रेश ही खाना चाहिए। मशरूम को दोबारा गर्म करके खाने से चिकन की ही तरह इसका भी प्रोटीन का कॉम्पोजिशन बदल जाता है, जो हानिकारक हो सकता है।

5) हममे से ज्यादातर लोग अंडा खाते हैं। वैसे तो अंडा प्रोटीन का बेहतरीन स्त्रोत है लेकिन अंडे में मौजूद प्रोटीन दोबारा गर्म करने के बाद जहरीला हो जाता है।

6) पालक को दोबारा गर्म करके खाना कैंसर का कारण बन सकता है। इसमें मौजूद नाइट्रेट दोबारा गर्म करने के बाद कुछ ऐसे तत्वों में बदल जाते हैं, जिससे कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है।

7) तेल को एक बार इस्तेमाल करने के बाद हटा देना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि तेल को दोबारा गर्म करने पर इसमें एल्डीहाइड्स नामक केमिकल निकलता है जो टॉक्सिक होता है। यह केमिकल न्यूरो से संबंधित रोग और कैंसर के लिए जिम्मेदार होता है।

8) कच्चे चावल में कुछ कीटाणु पाए जाते हैं, जो चावल पकने के बाद नष्ट तो हो जाते हैं। लेकिन चावल ठंडा होने पर वे कीटाणु फिर से पनपते लगते हैं और दोबारा गर्म करने पर भी वे कीटाणु नहीं मरते। चावल को दोबारा गर्म करके खाने पर फूड पॉयजनिंग हो सकती है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper