गहलोत ने राहुल को बताया कांग्रेस को मजबूत करने का मंत्र, सुझाए सात उपाय

नई दिल्ली: राहुल गांधी ने हाल ही में राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पार्टी का महासचिव नियुक्त किया है। उन्हें लंबे समय तक महासचिव रहे जनार्दन द्विवेदी की जगह नियुक्त किया गया है। कद बढ़ते ही गहलोत ने राहुल गांधी को पार्टी को मजबूत बनाने के लिए सात सूत्रीय फॉर्मूला बताया है। सूत्रों के मुताबिक गहलोत ने बताया है कि प्रदेश, ज़िला, ब्लॉक और बूथ कमेटी का एक निश्चित समय सीमा में गठन हो। जल्द से जल्द प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किए जाएं।

कमेटी के सदस्यों की पूरी डिटेल, उनकी पृष्टभूमि और विशेषज्ञता का डाटाबैंक तैयार किया जाए और ज़रूरत पड़ने पर उनका उसी के मुताबिक इस्तेमाल किया जाए। अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यकों और महिलाओं को हर स्तर पर 50 फीसदी आरक्षण दिया जाए। 40 फीसदी पद 40 साल की उम्र से नीचे के लोगों को मिलें।

पार्टी की केंद्रीय इकाई से दिए गए कार्यक्रमों की ऑडियो-विजुअल निगरानी हो और कार्यक्रम की पूरी डिटेल केंद्र को भेजी जाए। प्रदेश और राष्ट्रीय स्तर पर संगठन के सभी कार्यक्रमों की मॉनिटरिंग के लिए हर राज्य में एक प्रभारी के साथ चार प्रभारी सचिवों की नियुक्ति का फार्मूला बनाया जाए।

पार्टी के ट्रेनिंग प्रोग्राम और अधिवेशन तय समय सीमा में आयोजित किए जाएं, जिसमें विशेषज्ञों, जानकारों और नेताओं के व्याख्यान भी हों। युवाओं और प्रोफेशनल्स को पार्टी से जोड़ा जाए। समीक्षा के लिए राहुल गांधी हर चार महीने में राज्य के प्रभारी और प्रभारी सचिवों के साथ बैठक करें और ज़मीन पर काम करने वालों को चिन्हित कर उन्हें संगठन में काम दिया जाए।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper