गाजियाबाद के स्कूलों में 24 घंटे में 5 बच्चे कोरोना पॉजिटिव पाए गए

गाजियाबाद: स्कूलों में कोरोना (Corona in Schools) के खतरे ने लोगों की परेशानी बढ़ा दी है। कोरोना के मामलों में एक बार फिर वृद्धि दिख रही है। पूरी क्षमता के साथ स्कूल खुले हैं और इसका असर दिखना शुरू हो गया है। गाजियाबाद (Ghaziabad) में पिछले 24 घंटे के भीतर दो स्कूलों के 5 बच्चों में कोरोना का संक्रमण मिला है। पहले इंदिरापुरम के सेंट फ्रांसिस स्कूल (St Francis School Indirapuram) में 2 स्टूडेंट कोविड पॉजिटिव पाए गए। इनमें एक बच्ची ग्रेटर नोएडा वेस्ट की रहने वाली है। वहीं, वैशाली स्थित केआर मंगलम स्कूल (KR mangalam School Vaishali) के 3 बच्चों में कोरोना का मामला पाया गया है। इन दोनों स्कूलों को एहतियातन बंद कर दिया गया है।

केआर मंगलम स्कूल के एडमिन ऑफिसर ने माना है कि स्कूल में कोरोना के तीन केस सामने आए हैं। इसके बाद स्कूल को बंद कर दिया गया है। इससे पहले सेंट फ्रांसिस स्कूल में मामला सामने आया था। स्कूल प्रबंधन का कहना है कि बच्चों के कोरोना इंफेक्टेड होने की जानकारी अभिभावकों ने रविवार को दी गई। इसके बाद स्कूल को सैनिटाइज करवाया गया। अब 19 अप्रैल को स्कूल दोबारा खुलेगा। स्कूल मैनेजमेंट ने बताया कि कोविड पॉजिटिव पाई गई ग्रेटर नोएडा वेस्ट की बच्ची तीसरी कक्षा में पढ़ती है। दूसरा बच्चा नौवीं में पढ़ता है। वह इंदिरापुरम में रहने वाला है।

वैशाली स्थित केआर मंगलम स्कूल के एडमिन ऑफिसर ने बताया कि स्कूल को 11 और 12 अप्रैल के लिए बंद कर दिया गया है। रविवार को स्कूल परिसर और बसों को सैनिटाइज किया गया। उन्होंने बताया कि मंगलवार शाम को स्थिति को देखकर आगे फैसला लिया जाएगा।

6 अप्रैल से सेंट फ्रांसिस के बच्चे नहीं आ रहे थे स्कूल
स्कूल से मिली जानकारी के अनुसार दोनों बच्चे बुधवार यानी 6 अप्रैल से स्कूल नहीं आ रहे थे। बुधवार तक दोनों बच्चे स्वस्थ थे। रविवार को अभिभावकों की तरफ से बच्चों के कोविड पॉजिटिव का मेसेज दिया गया। इसके बाद अन्य अभिभावकों को मेसेज के माध्यम से सूचित कर दिया गया है। इसमें सभी से सावधानी बरतने की भी बात कही गई है। वहीं साथ में बैठने और बस से उसी रूट पर जाने वाले बच्चों की भी कोरोना जांच कराने के लिए कहा गया है, जिससे समय रहते इलाज शुरू हो सके।

तीन दिन अब ऑनलाइन क्लास
सेंट फ्रांसिस स्कूल के कर्मचारी जोमोन जॉन ने बताया कि जैसे ही बच्चे को कोरोना पॉडिटिव होने की सूचना मिली तो स्कूल को तत्काल सैनिटाइज करवाया गया। हर कक्षा में सैनिटाइजेशन किया गया और स्कूल को 19 अप्रैल तक बंद कर दिया गया है। सभी कक्षाएं ऑनलाइन चलेंगी। ऑफलाइन कक्षाएं अगले मंगलवार से ही चलेंगी। साथ ही उन्होंने बताया कि कोविड पॉजिटिव निकले स्टूडेंट्स से मैनेजमेंट की टीम संपर्क में है और बच्चों के स्वास्थ्य की जानकारी लगातार ली जा रही है। वहीं अन्य अभिभावकों को भी सावधानी बरतने के लिए कहा गया है।

नोएडा में बढ़े हैं कोरोना के मामले
एनसीआर में कोरोना के मामलों में वृद्धि देखने को मिली है। पिछले 10 दिनों में नोएडा में 100 से अधिक कोरोना संक्रमित मरीज मिल चुके हैं। ऐसे में एक बार फिर कोरोना संक्रमण की जांच की प्रक्रिया को तेज करने पर प्रशासन की ओर से जोर दिया जा रहा है। स्कूलों में बच्चों के इंफेक्टेड होने से अभिभावकों की चिंता बढ़ गई है।

चौथी लहर का सता रहा डर
देश में कोरोना की चौथी लहर का डर भी इसी के साथ सताने लगा है। कई राज्यों में कोरोना के बढ़े मामलों ने आशंका को गहरा दिया है। हालांकि, पूरे देश में नए मामलों में गिरावट देखने को मिल रही है। पूरे देश में रविवार को 1054 नए मामले आए और 29 मरीजों की मौत हुई थी। दिल्ली में 160 नए मामलों के आने के बाद संक्रमण दर बढ़कर 1.55 फीसदी हो गई है। इस प्रकार के मामलों ने एनसीआर और अन्य इलाकों में चिंता बढ़ाई है

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper