गार्ड की हत्या व कैशवैन लूटकांड में पुलिस के हाथ चौबीस घंटे बाद भी खाली

लखनऊ ब्यूरो। राजभवन कालोनी के पास सोमवार को दिनदहाड़े एक्सिस बैंक के कैश वैन का गार्ड इन्द्र मोहन की हत्या कर कैशवैन से 6.44 लाख की लूटकांड में 24 घंटे बाद भी पुलिस के हाथ खाली है। वहीं, एसटीएफ ने इस खुलासे के लिए क्राइम सीन किया और जल्द ही लुटेरों को दबोचने की बात कह रही हैं।

राजभवन कालोनी के सामने हुई हत्या व लूट की घटना को कुछ घंटे बाद ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रमुख सचिव व डीजीपी सहित कई पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक कर जल्द ही इस केस के अनावरण के निर्देश दिये। इसके बाद ही डीजीपी ने एसएसपी कलानिधि नैथानी, एसपी पूर्वी सर्वेश कुमार मिश्र, सीओ हजरतगंज अभय कुमार मिश्रा, इंस्पेक्टर और इस लूटकांड के खुलासे में लगी एसटीएफ की छह टीमों के साथ बैठक की। एसएसपी ने विवेचना की है पुलिस कर्मियों के साथ मंगलवार को घटनास्थल पहुंचे और लूटकांड का नाट्य रुपान्तरण किया।

एसपी पूर्वी सर्वेश मिश्रा का कहना है कि क्राइम सीन से सिर्फ यह पता करने की कोशिश की जा रही है कि बदमाश ने अकेले ही यह घटना को कैसे अंजाम दिया है। कही ऐसा तो नहीं कुछ और साथी आस पास रहे हों, इस बारे में भी पता लगाया जा रहा है। पहले यह नाट्य रुपान्तरण रात में ही होना था, लेकिन बारिश के चलते मंगलवार को हुआ है। हमारी टीम सभी बिन्दुओं पर काम कर रही है, जल्द ही घटना का खुलासा किया जायेगा।

पुराने घटनाओं में वांछितों से भी हो रही पूछताछ

लखनऊ में विगत दिनों हुई बड़ी लूट, चोरी की घटनाओं में वांछित अपराधी, जिनके रिकार्ड थाने में मौजूद हैं। पुलिस उनसे भी पूछताछ कर रही है। साथ ही एसएसपी ने जनता से अपील की है कि पुलिस द्वारा जिस व्यक्ति का स्कैच जारी हुआ है अगर उसकी सूचना देते हैं तो उन्हें 50 हजार रुपये से पुरस्कृत किया जायेगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper