गुजरात-हिमाचल में भाजपा की जीत बनी विदेशों में सुर्खियां

नई दिल्लीः गुजरात और हिमाचल में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की जीत ने सिर्फ देश ही नहीं बल्कि विदेशों में भी खूब सुर्खियां बटोरी । हालांकि, इस जीत को सबने अलग-अलग तरीके से रखा है। कोई इसे PM मोदी के चलते भाजपा की जीत बता रहा है तो वहीं कुछ इसे गुजरात चुनाव में पाकिस्तान का नाम उछालने पर हुई भाजपा की जीत बता रहे हैं । देखते हैं अमरीका से लेकर चीन और पाकिस्तान तक अखबारों ने भाजपा की इस जीत पर किस तरह की प्रतिक्रियाएं व्यक्त की गईं|

न्यूयॉर्क टाइम्स
भाजपा की इस जीत पर अमरीका का प्रतिष्ठित अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स लिखता है- “भारत में मोदी की पार्टी ने राज्यों के चुनाव में अपनी ताकत दिखाई।”

सीएनबीसी
जबकि, सीएनबीसी ने अपनी रिपोर्ट में लिखा है- “हालांकि, जहां मोदी की भारतीय जनता पार्टी ने हिमाचल प्रदेश में शानदार जीत हासिल की है तो वहीं पार्टी अध्यक्ष जिन 150 सीटों की उम्मीद कर रहे थे उतनी सीटें नहीं आ पाई। यहां की 99 सीटों पर जीत के बाद भाजपा ने सरकार बनाने के लिए जरुरी 92 का आंकड़ा पार कर लिया।”

हफिंगटन पोस्ट
हिमाचल और गुजरात में भाजपा की जीत पर हफिंगटन पोस्ट ने लिखा है, कि मोदी और हिंदुत्व की वजह से गुजरात में बीजेपी को जीत मिली। अखबार के आर्टिकल में गुजरात के कुछ क्षेत्रीय युवाओं का जिक्र करते हुए कहा गया है कि वे नरेंद्र मोदी से कितना प्यार करते हैं और उनकी ओर से किए गए काम को गर्व के रूप में देखते हैं।

ग्लोबल टाइम्स
चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने गुजरात में भाजपा की जीत का उल्लेख करते हुए बताया गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृह जनपद में किस तरह चुनाव प्रचार किया गया। इसमें बताया गया है कि भाजपा के सभी शीर्ष नेता और कैबिनेट मंत्रियों ने वहां लगभग एक महीने तक डेरा जमा लिया था। इसमें परिणाम आने के बाद नरेंद्र मोदी और राहुल गांधी के दिए बयानों का भी जिक्र किया गया है। ग्लोबल टाइम्स ने आगे कहा है कि गुजरात और हिमाचल में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व के कारण ही भाजपा को जीत मिली है। वहां बीजेपी के राज्य के नेताओं की उतनी भूमिका देखने को नहीं मिली। वहीं, हिमाचल में भाजपा के मुख्यमंत्री उम्मीदवार की हार का भी जिक्र किया गया है।

पाकिस्तानी अखबार डॉन
पाकस्तानी के अखबार डॉन के ऑर्टिकल में गुजरात में भाजपा की जीत पर नरेंद्र मोदी के साल 2002 चुनाव का जिक्र किया है। इसमें कहा गया है- “फरवरी 2002 में गोधरा में ट्रेन जलाने की घटना पर नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान पर दोष मढ़ा और आने वाला विधानसभा चुनाव जीत लिया। ऐसे ही साल 2017 के चुनाव में प्रचार के अंतिम समय में उन्होंने पाकिस्तान का जिक्र किया, जो कि उनकी जीत में आंशिक रूप से मददगार रहा।”

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper