गुरू गोरक्षनाथ के नाम पर प्रदेश का पहला आयुष विश्वविद्यालय

गोरखपुर: बुधवार को कैबिनेट बाई सर्कुलेशन इस प्रस्ताव को मंजूरी मिल गई। गोरखपुर के चौरीचौरा तहसील के मलमलिया गांव में स्थापित होने वाले आयुष विश्वविद्यालय का नाम महायोगी गुरु गोरक्षनाथ उत्तर प्रदेश राज्य आयुष विश्वविद्यालय गोरखपुर होगा। मुख्यमंत्री नए साल में इस विश्वविद्यालय का शिलान्यास कर प्रदेश के पहले आयुष विश्वविद्यालय का तोहफा देने की तैयारी में हैं।

सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर जिला प्रशासन ने विवि के कुलपति समेत उनके 25 के करीब स्टाफ के बैठने का इंतजाम आयुष विश्वविद्यालय का अस्थाई कार्यालय पार्क रोड स्थित सीतापुर आंख अस्पताल के भवन में बना दिया है। जल्द ही यहां कुलपति व 20 से 25 लोगों का स्टाफ काम करना शुरू कर देगा। तीन बड़े हाल आयुष विवि के लिए दिए हैं। कुलपति के रहने के लिए एक बंगला भी आवंटित किया गया है।

जल्द ही कुलपति के नाम की भी घोषणा हो सकती है। शिलान्यास के बाद तत्काल निर्माण भी शुरू हो जाएगा। इसके लिए शासन ने जनवरी में लेटर ऑफ इंटेंट जारी करने की तैयारी कर ली है। सीएम योगी ने आयुष विश्वविद्यालय में महाविद्यालयों की संबद्धता एवं अन्य प्रशासनिक कार्य सत्र 2021-22 से एवं विश्वविद्यालय में शिक्षण कार्य सत्र 2022-23 से प्रारंभ करने के निर्देश दिए हैं।

खास खास
नए साल में सीएम योगी शिलान्यास कर देंगे प्रदेश के पहले आयुष विश्वविद्यालय को तोहफा
आयुष विश्वविद्यालय के कुलपति एवं स्टाफ की जल्द होगी तैनाती
कुलपति के लिए अस्थाई कार्यालय और आवास पहले ही आवंटित

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper