गूगल के दो पूर्व इंजीनियरों ने बनाई सेल्फ ड्राइविंग कार

नई दिल्ली: दुनिया की दिग्गज कंपनियां अपने आप चलने वाले वाहनों के विकास में लगी हुई हैं। इस बीच न्यूरो नाम के एक स्टार्ट अप ने एक खास तरह की सेल्फ ड्राइविंग कार तैयार की है। न्यूरो स्टार्ट-अप गूगल के लिए काम कर चुके दो इंजीनियरों ने शुरू किया है। अपने आप चलने वाला यह वाहन भविष्य में सेवाओं और विभिन्न उत्पादों की होम डिलीवरी में उपयोगी हो सकता है। इसी तथ्य को ध्यान में रखते हुए गूगल के इन पूर्व इंजीनियरों ने सेल्फ ड्राइविंग कार परियोजना को हाथ में लिया है। अन्य सेल्फ ड्राइविंग स्टार्टअप्स से अलग, न्यूरो रोबॉट टैक्सीज या आटोनामस ट्रक्स बनाने पर फोकस नहीं कर रहा है।

इस स्टार्टअप ने एक नई किस्म का सेल्फ ड्राइविंग वाहन तैयार किया है। यह नया वाहन पहली नजर में ऐसा लगता है कि जैसे पहियों पर कोई विशाल लंचबॉक्स रख दिया गया हो। गूगल के पूर्व इंजीनियर डेव फर्ग्यूसन और जियाजुन झू ने मिलकर एक ऐसा सेल्फ ड्राइविंग वाहन तैयार किया है, जिसके जरिए सामान ढोया जा सकता है। यह एक इलेक्ट्रिक वाहन है, जो कि ट्रैफिक सिग्नल्स को पहचानने के साथ ही पैदल चल रहे लोगों की पहचान कर अपना मार्ग निर्धारित कर सकता है। दोनों इंजीनियरों ने सन 2016 में अपना स्टार्टअप शुरू किया था।

बाजार विशेषज्ञों का मानना है कि यह वाहन विभिन्न सेवाओं की डिलीवरी में इस्तेमाल किया जा सकता है। यह स्थानीय स्तर पर आनलाइन किए जाने वाले व्यापार में बेहद सहायक हो सकता है। आनलाइन मार्केट इन दिनों तेजी से बढ़ रहा है। ऐसे में अगर खुद से चलने वाली कोई गाड़ी सेवा या विभिन्न उत्पादों को घर तक पहुंचाती है, तो यह कंपनियों के लिए बहुत सुविधाजनक होगा। ऐमजॉन पहले ही सेल्फ ड्राइविंग रोबॉट्स पर भरोसा दिखा चुकी है। कंपनी ने एक अपने आप चलने वाले एक वाहन का पंजीकरण भी कराया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper