गोमतीनगर रेलवे स्टेशन के आधुनिकीकरण का कार्य शुरु

लखनऊ ब्यूरो। रेलवे प्रशासन ने गोमतीनगर रेलवे स्टेशन के आधुनिकीकरण का काम शुरु कर दिया है। स्टेशन को पर्यावरण अनुकूल बनाया जाएगा।

मंडल वाणिज्य प्रबंधक ने शनिवार को बताया कि गोमतीनगर रेलवे स्टेशन के आधुनिकीकरण का काम शुरू कर दिया गया है। इस स्टेशन को पर्यावरण अनुकूल बनाने की तैयारी की जा रही है। इसके लिए यहां पर बिजली व पानी की बचत की जाएगी, जिससे ऊर्जा व पर्यावरण संरक्षण को बढ़ावा मिलेगा।

स्टेशन पर सोलर पैनल से बिजली का उत्पादन होगा। इसके साथ यहां की दीवारें कला व संस्कृति से भरी होंगी। यहां पर अवधी स्थापत्य कला व मार्डन कंटेम्परेरी आर्ट का मिलाजुला संगम देखने को मिलेगा जिससे इसकी खूबसूरती बढ़ेगी।

उन्होंने बताया कि वर्ष 2020 में यह स्टेशन बनकर तैयार होगा। रेलवे स्टेशनों के पुनर्विकास योजना के तहत चारबाग और गोमतीनगर रेलवे स्टेशन का कायाकल्प होना है। करीब 1910 करोड़ रुपये की लागत से इस स्टेशन का आधुनिकीकरण होगा। इसका खाका पूरी तरह से तैयार है। गोमतीनगर स्टेशन पर एयरपोर्ट की तर्ज पर यात्रियों को सुविधाएं दी जाएंगी।

वाणिज्य प्रबंधक ने बताया कि गोमतीनगर रेलवे स्टेशन का सर्वे कराया गया था। जिसके बाद इसे अलग तरह का स्टेशन बनाने पर विचार हुआ है। यहां पर ऊर्जा संरक्षण को बढ़ावा देने के लिए सोलर पैनल का इस्तेमाल होगा। इससे करीब 40 फीसदी बिजली की बचत होगी। पानी की बचत के लिए वाटर रिसाइकलिंग व हार्वेस्टिंग के लिए भी तैयारियां चल रही हैं।

इसके अलावा गोमतीनगर स्टेशन को पहले एक तरफ से प्रवेश और दूसरी ओर से निकास की योजना थी, लेकिन डेढ़ लाख यात्रियों की जरुरतों को देखते हुए अब इसके दोनों तरफ प्रवेश व निकास की व्यवस्था होगी। यहां पर मॉल और स्टेशन जाने के लिए अलग-अलग रास्ते तैयार होंगे ताकि यात्रियों को पूरी सुविधा मिल सके।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper