गोरखपुर में ऐसे मनेगी CM योगी की होली, शुरू हुई नरसिंह शोभायात्रा की तैयारी

गोरखपुर: जीत का रंग सबसे चटक होता है। रंगों के त्योहार होली पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में निकलने वाली होलिका दहन शोभायात्रा एवं भगवान नरसिंह शोभायात्रा में में इस बार चुनाव में हासिल प्रचंड बहुमत का रंग चहुंओर बरसेगा। यह शोभायात्रा सीएम योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में भाजपा को मिली कामयाबी का अभूतपूर्व विजय जुलूस बने, इसे लेकर जोरदार तैयारियां शुरू हो गई हैं। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और श्री होलिकोत्सव समिति महानगर परंपरागत रूप से निकाली जाने वाली भगवान नरसिंह की शोभायात्रा 19 मार्च को सुबह 8.30 बजे घंटाघर से निकलेगी। अबीर-गुलाल और रंगों के बीच शोभा यात्रा को घंटाघर में सीएम योगी आदित्यनाथ संबोधित करेंगे। उसके बाद ध्वज प्रणाम और प्रार्थना होगी। संघ के प्रांत प्रचारक सुभाष जी, गोरक्षपीठाधीश्वर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भगवान नरसिंह की महाआरती कर शोभायात्रा के रथ पर सवार होंगे। रंग गुलाल खेलते हुए शोभा यात्रा का प्रस्थान होगा।

सामाजिक समरसता व पारस्परिक सदभाव को सुदृढ़ करते इस आयोजन के लिए इस बार लोगों में गजब का उत्साह है। श्री होलिकोत्सव समिति महानगर के अध्यक्ष इंजीनियर अरुण प्रकाश मल्ल, समिति के मंत्री मनोज जालान कहते हैं कि भगवान नरसिंह की शोभायात्रा भाजपा की जीत के उल्लास की भी यात्रा होगी। शोभा यात्रा घंटाघर से निकल कर मदरसा चौक, लालडिग्गी, मिर्जापुर, घासी कटरा, जाफरा बाजार, चरण लाल चौक, आर्यनगर, बक्शीपुर, नखास चौक, रेती चौक होते हुए घंटाघर लौट कर विसर्जित हो जाएगी। शोभायात्रा में नशा कर शामिल होना प्रतिबंधित है। इसके अलावा नीला और काला रंग इस्तेमाल करना प्रतिबंधित है।

आयोजन की ये हैं तैयारियां
श्री होलिकोत्सव समिति महानगर के अध्यक्ष इंजीनियर अरुण प्रकाश मल्ल बताते हैं कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ का ध्वज 20 फीट का होगा। बांसुरी की मधुर धुन के बीच ध्वज चढ़ाया और बिगुल की गूंज के साथ उतारा जाएगा। शोभायात्रा में तुरही व नगाड़ा शामिल होंगे जिनसे अतिथियों का स्वागत होगा। भगवान नरसिंह की महाआरती होने के बाद तुरही व नगाड़ा की आवाज भी गूंजेगी। इस बार शोभायात्रा में पांच ट्रालियां शामिल की जाएंगी, जिन पर रंग घोलकर रखा होगा। हर ट्राली पर 15-20 स्वयं सेवक होंगे जो पिचकारियों सें लोगों पर रंगों की बौछार करेंगे। शोभायात्रा लगभग 8 किलोमीटर घूमती है। 200 किलोग्राम अबीर-गुलाल उड़ा दिए जाते हैं। 2 क्विंटल गुलाब व गेंदा के फूलों की पंखुड़ियां होती हैं जिसके भी होली खेली जाती है।

होलिका दहन यात्रा 17 की शाम निकलेगी
17 मार्च को शाम 4 बजे पाण्डेय हाता चौराहे से होलिका दहन यात्रा निकाली जाएगी जिसमें सीएम योगी आदित्यनाथ के अलावा नगर विधायक डॉ राधा मोहन दास अग्रवाल, भजन गायक नन्दू मिश्रा, विधायक विपिन सिंह भी शामिल होंगे। कार्यक्रम में सीएम योगी श्रद्धालुओं के साथ फूलों से होली भी खेलेंगे। यात्रा में देवी-देवताओं की झांकियां और बैंड भी शामिल होंगे।

1944 में नानाजी देशमुख ने संभाली यात्रा की बागडोर
भगवान नरसिंह की रंगभरी शोभायात्रा की शुरुआत कब हुई, इसकी जानकारी नहीं है। इस शोभायात्रा में गाली-गलौच, लोगों के कपड़े फाड़ देना, कीचड़ फेंकना, शराब पीकर शामिल होना, आम बात थी। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रचारक के रूप में 1939 में गोरखपुर आए नानाजी देशमुख को यह अच्छा नहीं लगा। स्वयं सेवकों की मदद से उन्होंने 1944 से शोभायात्रा की बागडोर अपने हाथ में ले ली। हालांकि व्यवस्थित शोभायात्रा का कैंट थाने में रिकार्ड 1948 से मिलता है। तभी से यह शोभायात्रा संघ के निर्देशन में निकाली जाती है। यात्रा के दौरान केवल लाल-पीले रंगों, फूलों व अबीर-गुलाल का प्रयोग किया जाता है। इसमें तीन डीजे शामिल होते हैं। भगवान नरसिंह का रथ सबसे पीछ़े होता है। उस रथ पर भी रंग घोल कर रखा रहता है। उसके पीछे नगर निगम का एक टैंकर चलता है जो जरूरत पड़ने पर पानी उपलब्ध कराता रहता है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper