गोरखपुर में पीएम मोदी बोले- लाल टोपी वाले यूपी के लिए खतरे की घंटी

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गोरखपुर में 9,600 करोड़ रुपए से अधिक मूल्‍य की विकास परियोजनाएं राष्‍ट्र को समर्पित किया. इस दौरान पीएम ने सपा पर हमला बोलते हुए कहा कि, पूरी यूपी भली-भांति जानता है कि लाल टोपी वालों को लाल बत्ती से मतलब रहा है, आपकी दुख-तकलीफों से नहीं. लाल टोपी वालों को आतंकवादियों पर मेहरबानी दिखाने के लिए सरकार बनानी है. इसलिए याद रखिए लाल टोपी वाले यूपी के लिए रेड अलर्ट हैं यानि खतरे की घंटी हैं.

पीएम मोदी ने गोरखपुर में लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि यहां के किसानों और रोजगार के लिए गोरखपुर उर्वरक संयंत्र के महत्व को हर कोई जानता था, लेकिन पिछली सरकारों ने इसे शुरू करने में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई. सभी जानते थे कि एम्स गोरखपुर लंबे समय से लंबित मांग है, लेकिन 2017 से पहले की सरकारों ने इसके लिए जमीन आवंटित करने में बहाना बनाया. ये लोग कभी नहीं समझ सकते कि कोरोना संकट के दौरान भी डबल इंजन वाली सरकार विकास के साथ चलती रही, इसने काम नहीं रुकने दिया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि गोरखपुर में उर्वरक संयंत्र और एम्स की शुरुआत कई संदेश दे रही है. जब डबल इंजन वाली सरकार होती है तो डबल स्पीड में काम होता है. जब ईमानदार इरादे से काम किया जाए तो विपत्ति भी बाधा नहीं बन सकती. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जब कोई सरकार उत्पीड़ित और वंचित वर्गों की चिंता करती है, तो वह कड़ी मेहनत करती है और परिणाम भी देती है. गोरखपुर में आज का कार्यक्रम इस बात का प्रमाण है कि जब ठान लिया जाए तो नए भारत के लिए कुछ भी असंभव नहीं है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper