गोरे जिस्म का काला कारोबार

मेरठ: देह व्यापार कराने की सूचना पर एसपी सिटी ने शुक्रवार देर रात को पल्लवपुरम फ्लाईओवर के पास एक होटल पर छापा मारा। छापे के दौरान होटल से दो विदेशी युवतियों समेत चार युवतियां मिली। चारों युवतियों की होटल के रजिस्टर में कोई एंट्री नहीं मिली। पुलिस ने होटल के स्टाफ समेत 16 लोगों को हिरासत में लिया है। एसपी सिटी का कहना है कि पुलिस मामले की जांच कर रही है।

एसपी सिटी मान सिंह चौहान ने बताया कि शुक्रवार देर रात को पल्लवपुरम में एक होटल में विदेशी युवतियों को बुलाने जाने और देह व्यापार कराने की सूचना मिली थी। इसी सूचना पर उन्होंने पुलिस फोर्स के साथ पल्लवपुरम फ्लाईओवर के पास होटल ग्रैंड-ए स्टार पर छापा मारा। पुलिस ने इस होटल से तुर्कमेनिस्तान निवासी दो युवतियां बरामद की। दोनों युवतियां एक ही कमरे में थी। होटल के दूसरे कमरे से दिल्ली निवासी दो युवतियां बरामद की गई। इन युवतियों की होटल के रजिस्टर में न तो कोई एंट्री थी और न ही होटल प्रबंधन द्वारा विदेशी युवतियों के पासपोर्ट की कोई जानकारी ली गई थी। इसके बाद पुलिस टीम ने होटल से स्टाफ समेत 16 लोगों और चार युवतियों को हिरासत में लिया।

युवतियों को महिला थाने भेजा गया। दिल्ली निवासी युवतियों के परिजनों को सूचना भेजी गई। विदेशी युवतियों के संबंध में तुर्कमेनिस्तान के दूतावास से संपर्क किया जा रहा है। इसके अलावा बाकी 16 लोगों में से कुछ होटल का स्टाफ है। एसपी सिटी के अनुसार, विदेशी युवतियों को बुलाकर देह व्यापार का धंधा कराने की सूचना मिली थी, जिस पर दबिश दी गई। इस मामले में जांच की जा रही है। होटल में लगे सीसीटीवी कैमरों के आधार पर होटल मालिक और मैनेजर के खिलाफ मुकदमा दर्जकर कार्रवाई की जा रही है। वहीं, व्यापारियों ने इस घटना को एसपी सिटी की तानाशाही करार दिया।

अवैध चल रहा था होटल

जिस होटल पर एसपी सिटी मान सिंह चौहान ने छापेमारी की, वह बिना पंजीकरण के चल रहा था। एसपी सिटी द्वारा देह व्यापार कराने की सूचना की अभी पुष्टि नहीं हो पाई। इस मामले की खिलाफ शनिवार को व्यापारियों ने एसएसपी आॅफिस पर हंगामा किया और इस पूरे मामले में एसपी सिटी की भूमिका को गलत बताया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper