ग्रेजुएट लड़की का गैंगरेप, एहतेशाम और राजा गिरफ्तार, नौकरी का झाँसा देकर बुलाया था

मुरादाबाद: उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में दिल्ली की एक महिला के उत्तराखंड के 2 लोगों द्वारा गैंगरेप का मामला सामने आया है। आरोप है कि 23 वर्षीय महिला को जॉब इंटरव्यू के लिए यहाँ बुलाया गया था, जिसके बाद उसके साथ गैंगरेप हुआ। दिल्ली के मीठापुर की रहने वाली पीड़िता ने बताया कि वो आरोपितों में से एक के साथ संपर्क में थी, जिसने उसे जॉब का ऑफर दिया था और मोरादाबाद इंटरव्यू के लिए बुलाया था।

महिला को मेडिकल टेस्ट के लिए जिला अस्पताल भेजा गया है। वहीं दोनों आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। रविवार (दिसंबर 20, 2020) को पुलिस ने IPC की धारा 376D (गैंगरेप), 327 (अवैध कार्य कराने को मजबूर करने के लिए स्वेच्छापूर्वक चोट पहुँचाना), 328 (अपराध करने के आशय से क्षति कारित करना) और 506 (आपराधिक धमकी) के तहत FIR दर्ज कर के कार्रवाई शुरू कर दी है।

दोनों आरोपित एहतेशाम और राजा उत्तराखंड के काशीपुर में रहने वाले हैं। ‘हिन्दू जागरण मंच’ के कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया है कि इन दोनों ने छद्म हिन्दू नाम के साथ महिला को धोखे में डाला, इसीलिए उनके खिलाफ जबरन धर्मांतरण के तहत भी मामला दर्ज किया जाना चाहिए। उन्होंने पुलिस-प्रशासन से माँग की है कि ‘लव जिहाद (ग्रूमिंग जिहाद)’ की धाराएँ लगाई जाएँ। महिला स्नातक है और सोशल मीडिया के जरिए एक आरोपित के जरिए संपर्क में आई थी।

आरोपित ने खुद का परिचय एक ऑनलाइन एक्सपोर्ट कंपनी के मैनेजर के रूप में दिया। शनिवार को महिला जॉब इंटरव्यू के लिए बुलाए जाने पर मुरादाबाद पहुँची और बस स्टैंड पर ही दोनों आरोपित उससे मिलने पहुँचे। इसके बाद वो महिला को कोतवाली पुलिस थानांतर्गत बुद्ध विहार के एक होटल में लेकर गए, जहाँ उन्होंने रुकने के लिए पहले से ही एक कमरा बुक कर रखा था। महिला का आरोप है कि कमरे में उसे कुछ पीने को दिया गया, जिसमें नशीले पदार्थ मिले हुए थे।

इसे पीते ही वो अचेत हो गई। जब उसे होश आया तो पता चला कि उसके साथ बलात्कार किया गया है और दोनों आरोपित भी वहाँ से रफूचक्कर हो गए थे। होटल के कर्मचारियों को भी आरोपितों के बारे में कुछ पता नहीं था। इसके बाद महिला ने अपने परिजनों से संपर्क किया और मामला दर्ज कराया। पुलिस ने CCTV फुटेज और होटल के कर्मचारियों से पूछताछ के बाद पता लगाया कि दोनों आरोपित राजा और एहतेशाम हैं।

महिला के परिजनों ने हिन्दू कार्यकर्ताओं के साथ थाने पहुँच कर न्याय की माँग की। कोतवाली SHO अशोक कुमार ने कहा कि एक आरोपित सेल्स कंपनी में बतौर मैनेजर कार्यरत है और वो कुछ दिनों से पीड़िता के साथ संपर्क में था। पुलिस का कहना है कि धर्मांतरण का कोई मामला सामने नहीं आया है। पीड़िता का बयान दर्ज कर लिया गया है। मुरादाबाद एसपी प्रभाकर चौधरी ने कहा कि शनिवार की रात गिरफ्तार किए गए आरोपितों को अगले ही दिन जेल भेज दिया गया।

बता दें कि कुछ ही दिनों पहले उत्तर प्रदेश में बरेली के बाद मुरादाबाद में ग्रूमिंग जिहाद (लव जिहाद) को रोकने के लिए लागू किए गए अध्यादेश के तहत मामला दर्ज हुआ था। पुलिस ने परिजनों की शिकायत के आधार पर आरोपित राशिद और उसके भाई सलीम को गिरफ्तार किया था। आरोप लगाया गया था कि कि सोनू उर्फ राशिद हिन्दू युवती को बहला-फुसलाकर उसका धर्म परिवर्तन और निक़ाह करने की फिराक में था।

 

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper