ग्वालियर में एक साल में तैयार होंगे 5 सौ ड्रोन पायलट

ग्वालियर। मध्य प्रदेश के पहले ड्रोन स्कूल की ग्वालियर में शुरुआत हुई है। इस ड्रोन स्कूल से एक साल में पांच सौ ड्रोन पायलट तैयार होंगे। राज्य में कुल पांच ड्रोन स्कूल खोले जाने की योजना है। ग्वालियर में शुरू हुए इस ड्रोन स्कूल में हर माह 40 से 50 युवा ड्रोन पायलट का प्रशिक्षण हासिल कर सकेंगे और हर साल यहां से 500 ड्रोन पायलट तैयार होंगे। यह युवाओं के लिए रोजगार का नया रास्ता खोलने वाला होगा, क्योंकि इस प्रशिक्षण के बाद युवा 30 हजार रुपये मासिक तक आय अर्जित कर सकता है।

ग्वालियर में पहला ड्रोन स्कूल शुरु हुआ। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश बनाने के लिये सरकार सभी दिशाओं में काम कर रही है। इस दिशा में प्रदेश में ड्रोन तकनीक को भी प्रमुखता से अपनाया गया है। हम मध्यप्रदेश को ड्रोन तकनीक के इस्तेमाल में नम्बर वन राज्य बनायेंगे।

केन्द्रीय कृषि एवं किसान-कल्याण मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने कहा कि देश में कृषि के क्षेत्र में ड्रोन तकनीक को विशेष बढ़ावा दिया जा रहा है। निकट भविष्य में इस तकनीक के इस्तेमाल से क्रांतिकारी प्रगति सामने आयेगी। भारत सरकार के कृषि विभाग ने ड्रोन नीति जारी कर दी है, जिसमें 12वीं पास बच्चे चार लाख रूपए तक का अनुदान प्राप्त कर ड्रोन पायलट के रूप में अच्छा रोजगार पा सकते हैं।

केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का सपना है कि भारत किसी भी देश का फोलोअर नहीं लीडर बने। इसी संकल्पना को साकार करने के लिये ड्रोन को गांव-गांव और घर-घर में पहुंचाने के प्रयास किए जा रहे हैं। ग्वालियर में पहला ड्रोन स्कूल शुरू हो गया है। इस ड्रोन स्कूल में हर माह 40 से 50 बच्चों को ड्रोन तकनीक में प्रशिक्षित किया जायेगा। इस प्रकार साल भर में लगभग 500 युवा ड्रोन पायलट के रूप में तैयार होंगे। ड्रोन पायलट का प्रशिक्षण प्राप्त युवा हर माह औसतन 30 हजार रूपए की आय आसानी से अर्जित कर पायेंगे। मध्यप्रदेश के पाँचों ड्रोन स्कूल शुरू होने पर साल भर में लगभग ढ़ाई हजार ड्रोन पायलट तैयार होंगे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper