घर के अंदर चल रहा था सेक्स रैकेट का धंधा, पुलिस ने किया ऐसे भंडाफोड़

फरीदाबाद। हरियाणा के फरीदाबाद शहर में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ हुआ है। जब पुलिस ने छापा मारा तो वहां के हालत देख कर पुलिस ने भी आंखों पर हाथ रख लिए। किराए के फ्लैट को कुछ लड़कियों ने देह व्यापार का अड्डा बना रखा था। वाॅट्सऐप और सोशल मीडिया से ग्राहकों की बुकिंग होती थी। इस मामले में स्थानीय पुलिस ने कुल 8 लोगों को गिरफ्तार किया है, जिनमें 3 युवतियां भी शामिल हैं। एक पुलिस कर्मी ने ग्राहक बनकर इस पूरे देह व्यापार के धंधे का खुलासा किया है। पुलिस जब मकान में घुसी तो हैरान रह गई। मौके पर 3 युवतियां 5 युवकों के साथ मिलीं।

सिटी बल्लभगढ़ थाना पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए बल्लभगढ़ की नवलू कालोनी के एक मकान में चल रहे देहव्यापार के रैकेट का पर्दाफाश किया है। मौके से तीन युवतियों सहित आठ लोगों को गिरफ्तार किया है। सभी आरोपितों के खिलाफ अनैतिक कारोबार की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। पुरुष आरोपितों में कपिल, राहुल, अजय, विजय और भोलू शामिल हैं। थाना प्रभारी सुदीप कुमार ने बताया कि देह व्यापार के इस रैकट का मुख्य आरोपित कपिल है। उसने भोलू से मकान किराए पर लिया था। इसके बाद यहां पर लड़कियां बुलाकर उनसे देह व्यापार का धंधा कराता था। इसके चलते आसपास के लोग परेशान था, लेकिन शिकायत के लिए कोई आगे नहीं आ रहा था।

पुलिस इस भोले के मकान में देह व्यापार का धंधा चलाने की शिकायत मिली थी। इस पर पुलिस सभी आरोपितों को रंगेहाथ पकड़ना चाहती थी। इस पर मुखबिर की सूचना के आधार पर पुलिस की एक टीम गठित की गई। वरिष्ठ अधिकारियों से सर्च वारंट लेकर छापेमारी की गई। इस दौरान योजना बनाकर एक पुलिसकर्मी को ग्राहक बनाकर भेजा गया। उसका इशारा मिलने पर पुलिस टीम ने छापेमारी कर आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper