घर बैठा रसोइया देख रहा था लाइव, तभी आया सीएम का फोन, बोले- जल्दी आओ, बुला रहे हैं पीएम

मैं तो घर बैठकर टीवी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का लाइव भाषण देख रहा था, तभी सीएम मनोहरलाल का फोन आया और कहा कि जल्दी आओ, प्रधानमंत्री जी बुला रहे हैं। यह सुनते ही खुशी से उछल पड़ा और तुरंत पड़ोसी की बाइक मांगी और रैली स्थल की तरफ रवाना हो गया। करीब दो किलोमीटर पहले सुरक्षाकर्मियों ने बाइक रुकवा ली, तब पैदल दौड़कर गढ़ी सांपला में चौधरी छाेटूराम की प्रतिमा अनावरण स्‍थल तक पहुंचा और प्रधानमंत्री से मिला। उनसे मिलकर मानो सारी मन की मुराद पूरी हो गई।यह वाक्‍या सांझा किया रो‍हतक के रहनेवाले दीपक ने। दीपक ने मंगलवार को हुए इस अनुभव को बेहद भावुक होते सुनाया।

दीपक दशकों पहले भाजपा कार्यालय में रसोइया का काम करते थे औरउस समय हरियाणा भाजपा के प्रभारी रहे नरेंद्र मोदी को अक्सर उनकी पसंदीदा खिचड़ी बनाकर खिलाया करते थे।दरअसल, वर्ष 1996 से वर्ष 2002 तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हरियाणा के प्रभारी रहे थे। उस समय वह रोहतक स्थित भाजपा कार्यालय में रहते थे। वहां पर हुड्डा कांपलेक्स का रहने वाला दीपक रसोइया का काम करते थे। जो मूलरूप से नेपाल का रहने वाला है। फिलहाल में दीपक ऑफिस इंचार्ज का काम देख रहा है।

मंगलवार को सांपला में हुई रैली का करीब तीन बजे टीवी पर लाइव दिखाया जा रहा था। दीपक भी घर पर बैठा टीवी पर यह रैली देख रहे थे, तभी उसके मोबाइल पर सीएम मनोहरलाल का फोन आया। मनोहरलाल ने पूछा कि दीपक कहां पर हो, पीएम साहब तुम्हें बुला रहे हैं, जल्दी आओ। इतना सुनते ही दीपक खुशी से उछल पड़े।बकौल, दीपक उसे मंच तक लेकर जाने की जिम्मेदारी आइजी को दी गई थी। दीपक के पास अपना कोई वाहन नहीं था। उसने आनन-फानन में पड़ोसी की बाइक ली और रोहतक से करीब 20 किलोमीटर दूर आयोजन स्थल की तरफ दौड़ पड़ा।

सुरक्षाकर्मियों ने नहीं जाने दी बाइक

जिस समय दीपक रैली स्थल से करीब दो किलोमीटर दूर थे तो उनकी बाइक को सुरक्षाकर्मियों ने आगे नहीं जाने दी। वह काफी देर तक सुरक्षाकर्मियों को कहता रहा कि पीएम साहब ने बुलाया है, लेकिन उनकी किसी ने नहीं सुनी। इसके बाद वह बाइक खड़ी कर पैदल ही रैली स्थल की तरफ दौड़ पड़े। जिस समय वह रैली स्थल पर पहुंचे, प्रधानमंत्री का संबोधन खत्म हो चुका था।मंच से उतरते समय दीपक उनसे मिला। करीब पांच मिनट तक प्रधानमंत्री ने उसके साथ पुरानी यादों को ताजा किया। प्रधानमंत्री ने दीपक को वहां पर मौजूद तीन प्रदेशों से आए राज्यपाल से भी मिलवाया। गौरतलब है कि 2014 में झज्जर रैली में भी पीएम मोदी ने दीपक को मंच पर बुलाकर गले लगाया था।

सीएम ने खुद अपने मोबाइल से ली फोटो

प्रधानमंत्री से मिलते समय दीपक ने उनके साथ फोटो लेने की इच्छा जाहिर की। इस पर सीएम मनोहरलाल ने अपने मोबाइल से उनकी फोटो ली और बाद में दीपक के मोबाइल पर भेजी। दरअसल, सीएम के साथ भी दीपक करीब 22 साल तक रहा है।

खिचड़ी थी पीएम का पसंदीदा व्यंजन

बकौल, दीपक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करीब पांच-छह साल तक रहे हैं। वह सुबह आठ से नौ बजे की बीच नाश्ता करते थे, एक से दो बजे के बीच लंच और रात नौ बजे तक डिनर करते थे। प्रधानमंत्री को सबसे अधिक पसंद दीपक के हाथों के बनी खिचड़ी थी।

india first से साभार

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper