घर में लगा लीजिये ये खास सस्ता सा पौधा, कई बीमारियों का है रामबाण इलाज

अजवाइन को एक मसाले के तौर पर जाना जाता है। खाने में इसका प्रयोग करने से पेट से जुड़ी कई सारी परेशानियां भी दूर हो जाती हैं। मगर सिर्फ अजवाइन ही नहीं इसके पौधे भी बेहद गुणकारी है। आपको बता दें कि इस का पौधा घर में लगाने के बारे में शुद्ध होता है। साथ ही सेहत को लाजवाब फायदे मिलते हैं तो चलिए आज हम आपको ज्वाइन के पत्तों से मिलने वाले बेहतरीन फायदों के बारे में बताते हैं।

खाना बनाने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता हैं। अजवाइन की 1-2 पत्तियों को चबाकर खाएं। चाहे तो उसके बाद गर्म पानी पी लें। एक पैन में 1 गिलास पानी, 10-12 पत्ते डालकर उबालें। पानी के 1/3 होने पर गैस बंद करें। तैयार काढ़े को हल्का ठंडा कर शहद मिलाकर सेवन किया जा सकता है। ऐसा करने से आपको बेहद फायदा मिलेगा।

इसके अंदर विटामिन कैल्शियम फाइबर एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं। समय सुबह खाली पेट अजवाइन का पानी का सेवन करना चाहिए। ऐसा करने से डायबिटीज की समस्या से आपको जल्द ही निजात मिलेगा।

अजवाइन के पत्तों का पानी या चाय पीने से गठिया के समस्या में आराम मिलता है इसके सेवन से मांसपेशियों हड्डियों में मजबूती लाने के साथ-साथ सूजन को भी कम करता हैं। उसके अंदर विटामिन आयरन सोडियम कैल्शियम आदि तत्व होते हैं। ऐसे में यूरिन के दौरान जलन दर्द इन्फेक्शन होने का खतरा भी रहता रहता है।

यह पाचन नली को मजबूत कर खाना पचाने में मदद करता है ऐसे में पेट दर्द व सूजन आदि परेशानियों से आपको आराम मिलता है। खासतौर पर गैस की परेशानी होने पर इसके पत्तों की चाय यह काढ़ा बनाकर पीना चाहिए

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper