घर लौट रहे पिता का बेटे को रास्ते में करना पड़ा अंतिम संस्कार, वीडियो कॉल पर मां को कराए अंतिम दर्शन

रायपुर (छत्तीसगढ़). कोरोना संकट काल में कई प्रवासी मजदूरों की घर पहुंचने से पहले ही जान जा रही हैं। ऐसा ही एक मामला ओडिशा से लौट रहे मजदूरों के एक जत्थे में शामिल एक मजदूर की ट्रेन में तबीयत बिगड़ने के बाद उसकी मौत हो गई।

वीडियो कॉल कर मां को कराए पिता के अंतिम दर्शन
दरअसल, यह दुखद घटना मंगलवार को गुजरात से ओडिशा जा रही एक श्रमिक स्पेशल ट्रेन में घटी। जहां ओडिशा के रहने वाले मजदूर प्रफुल स्वाईं की महासमुंद पहुंचने से पहले ही मौत हो गई। उसके साथ इस यात्रा में मृतक का बेटा अनिल और अन्य परिजन भी साथ थे। बेटे ने महासमुंद के मुक्तिधाम में नम आंखों से अपने पिता का अंतिम संस्कार किया। इस दौरान बेबस बेटे ने अपनी मां और परिजनों को वीडियो कॉल कर पिता के अंतिम दर्शन और अंतिम संस्कार लाइव दिखाया।

बेटे ने बताई पिता की भावुक बातें…
जानकारी के मुताबिक, मृतक सूरत की एक साड़ी मिल में काम करता था। लॉकडाउन की वजह काम बंद हुआ तो वह 23 मई को वह अपने बेटे अनिल के साथ श्रमिक ट्रेन से अपने गांव के लिए रवाना हुआ। बेटे ने बताया कि पापा ने कहा-था अब हम कभी बाहर नहीं जाएंगे। जैसे भी होगा अपने गांव में ही मेहनत करके कमाएंगे। लेकिन घर पहुंने से पहले ही उसने दम तोड़ दिया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper