घायलावस्था में मिले रिक्शा चालक के जीवन और जीविका को बचा डीएम अभिषेक प्रकाश ने पेश की मिसाल

 


लखनऊः आज का यह वो दौर चल रहा है कि मुसीबत पड़ने पर अपने भी साथ छोड़ देते हैं। लेकिन राजधानी लखनऊ के जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश अपनी जिम्मेदारियों को बाखूबी निभाते हुए प्रत्येक नागरिक की मदद करते हैं। ऐसा ही वाक्या उस वक्त देखने को मिला जब मार्ग दुर्घटना में घायल होकर मदद मांग रहे घायलों को डीएम ने अपनी कार से अस्पताल पहुंचाया। पीड़ितों की मदद कर जहां उनके प्राण बचाये तो वहीं, एक नया रिक्शा भी खरीद कर चालक को दिया जिससे पीड़ित के परिवार की जीविका भी चल सके।

डीएम के इस कार्य को लेकर चारों तरफ सराहना हो रही हैं। दरअसल यह घटना तीन मई की बतायी जा रही है, जब जिलाधिकारी अपने भ्रमण कार्यक्रम से लौट रहे थे तो उन्होंने कैंट स्थित मरीमाता मंदिर अहियामऊ के पास एक रिक्शा उल्टा पड़ा देखा। रिक्शे के पास में ही घायलावस्था में चालक और रिक्शा सवार राहगीरों से मदद मांग रहे थे, लेकिन किसी ने भी उनकी कोई सहायता नहीं की। रिक्शा पूरी तरह से टूट चुका था। यह देख जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश फौरन कार से उतरकर घायलों के पास पहुंचे और दोनों घायलों को सिविल हॉस्पिटल में भर्ती कराया। डीएम ने डॉक्टरों से बात कर घायलों को बेहतर इलाज मुहैया कराया।

घायलों की पहचान मोहनगंज कैंट रोड निवासी 55 वर्षीय धनीराम और पुराना किला निवासी गुड्डू (50) के रुप में हुई। दोनों ही व्यक्ति अब खतरे से बाहर हैं। इस हादसे में चालक का रिक्शा पूरी तरह से टूट गया था, तो जिलाधिकारी ने उसकी माली हालत देखते हुए उसे एक नया रिक्शा भी दिया ताकि उसके घरवालों को रोजी-रोटी का संकट न आये। जिलाधिकारी के इस कार्य को लेकर चारों तरफ चर्चाएं हो रही है। साथ ही साथ सोशल मीडिया में लोग जिलाधिकारी को इस कार्य के लिए बधाई और प्रशंसा कर रहे हैं। वहीं, पीड़ित चालक का कहना है कि अब उनकी हालत में सुधार है। वे जिलाधिकारी के बहुत आभारी है, जिससे मौके पर पहुंचकर उसे बचाकर एक नया जीवनदान दिया तो वहीं, एक नया रिक्शा देकर उनके परिवार को दोबारा से रोजी रोटी देकर अन्नदाता भी बन गये।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper