घुटने अच्छे रखना है तो चलाएं साइकिल

इंदौर: 50 साल की उम्र के बाद हर व्यक्ति को साइकिल चलाना जरूरी है साइकिल चलाने से घुटनों में तकलीफ नहीं होगी घुटनों की तकलीफ से बचने के सबसे मुफीद इलाज के रूप में साइकिल चलाना और तेरना ही जरूरी होता है इससे घुटनों के आसपास की मांसपेशियां मजबूत होती हैं।

हड्डी रोग विशेषज्ञों की अंतर्राष्ट्रीय कार्यशाला आयोकान- 2017 के तीसरे दिन विशेषज्ञों ने यह बात कही। इस कार्यशाला में विशेषज्ञों ने विकृति सुधार, प्लास्टर तकनीकी, कमर के दर्द, कूल्हे और घुटने के जोड़ों में घिसाव रोकने, स्पाइन सर्जरी इत्यादि पर चर्चा की। उल्लेखनीय है देश में हर साल लगभग 175000 घुटनों का प्रत्यारोपण हो रहा है।

पुणे से आए घुटना विशेषज्ञ डॉ पराग संचेती के अनुसार घुटने, कूल्हे के साथ अब मरीज कंधा बदलवाने के लिए भी डॉक्टर के पास पहुंच रहे हैं उन्होंने लोगों को सलाह दी कि घुटने के हल्के दर्द की शुरुआत होने के साथ ही मरीज को जमीन पर बैठने से परहेज करना चाहिए, ताकि घुटनों पर पड़ने वाला अतिरिक्त दबाव उन्हें और कमजोर ना करें।

उन्होंने कहा यदि आपको घुटने अच्छे रखना है तो व्यायाम के रूप में साइकिल चलाएं अथवा पानी के बहाव की विपरीत दिशा में तैरने से घुटनों के आसपास की मांसपेशियां मजबूत होती हैं, और घुटने सही रहते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि 50 साल की उम्र के बाद यदि घुटने अच्छे रखना है,तो जमीन पर बैठने से परहेज करना चाहिए।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper