चाचा शिवपाल कहेंगे तो 2022 में भी भेजेंगे उन्हें राज्यसभा: अखिलेश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि चाचा शिवपाल सिंह यादव यदि कहेंगे तो उन्हें 2022 में राज्यसभा का टिकट दे देंगे। यादव ने यह बात मंगलवार को यहां एक समाचार चैनल के कार्यक्रम में कही। उनके परिवार में हुए विवाद के बारे में पूछे गये सवाल पर श्री यादव ने कहा, कुर्सी के लिये लड़ाई थी। कुर्सी चली गयी अब लड़ाई खत्म। चाचा ठीकठाक रहें और टिकट की मांग करें तो 2022 में उन्हें राज्यसभा भेज देंगे।

उन्होंने कहा कि परिवार में अब सब ठीक है। होली में पैर छूकर चाचा से आशीर्वाद लिया था। उन्होंने एक अन्य सवाल पर कहा कि ‘‘वह बैकर्वड हिन्दू हैं, और उन्हें इस पर गर्व है’। सपा अध्यक्ष यादव ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का नाम लिये बगैर कहा कि कुछ लोग कहते हैं कि वह हिन्दू नहीं हैं, लेकिन वह दावे के साथ कहते हैं, मैं भी हिन्दू हूं। बैकर्वड हिन्दू हूं। बैकर्वड हिन्दू होने का उन्हें गर्व है। नवरात्रि में नौ दिन व्रत रखूंगा। उनकी पत्नी हर बृहस्पतिवार व्रत रहती हैं, लेकिन कहा जाता है कि वह हिन्दू ही नहीं हैं।

यादव ने कहा सैफई महोत्सव शुरु होने से पहले हनुमानजी की पूजा की जाती है। उनके मुख्यमंत्रित्वकाल में हर थाने में जन्माष्टमी मनायी जाती थी। भाजपा वाले कहते हैं कि वह हिन्दू हैं ही नहीं। हिन्दू होने के लिये क्या भाजपा से प्रमाणपत्र लेना पड़ेगा। पीएम आवास योजना के तहत गरीबों को घर उपलब्ध कराये जाने के दावे पर चुटकी लेते हुए उन्होंने कहा कि जब बालू ही नहीं है तो घर कहां से बन गया। बालू के बगैर क्या घर बन सकता है।

सपा सरकार की योजनाओं को अपना बताकर धड़ाधड़ उद्घाटन किया जा रहा है। सपा सरकार के दौरान कानून व्यवस्था और भ्रष्टाचार बढने के दावे किये जाते थे लेकिन अब तो एक मंत्री ही कह रहा है कि इस सरकार में भ्रष्टाचार बढा है और कानून व्यवस्था की हालत खराब हुई है। बसपा से केवल उपचुनाव के लिये समझौता हुआ था। यह आगे भी बढ़ सकता है बशत्रे भाजपा को हराने के लिये दूसरे दल एकमत हों।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper