चारधाम यात्रा 2021: अक्षय तृतीया पर 15 मई को इस शुभ मुहूर्त में खुलेंगे गंगोत्री धाम के कपाट

नवरात्रि के पावन पर्व पर गंगोत्री मंदिर समिति एवं तीर्थ पुरोहितों ने गंगोत्री मंदिर के कपाटोद्घाटन का शुभ मुहूर्त निकाला। वैदिक पंचांग के अनुसार अक्षय तृतीया के पावन पर्व पर आगामी 15 मई को सुबह 7.31 बजे गंगोत्री मंदिर के कपाट श्रद्धालुओं के लिए खोले जाएंगे।

मंगलवार को प्रथम नवरात्र के पावन पर्व पर जिला मुख्यालय पर श्री पांच मंदिर समिति गंगोत्री के पदाधिकारियों व तीर्थ पुरोहितों की बैठक हुई। मंदिर समिति के अध्यक्ष पं. सुरेश सेमवाल ने बताया कि अक्षय तृतीया पर आगामी 15 मई को सुबह 7.31 बजे पर विधि विधान एवं धार्मिक अनुष्ठान के साथ गंगोत्री मंदिर के कपाट श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोल दिए जाएंगे।

चारधाम यात्रा 2021: बाहरी राज्यों के तीर्थयात्रियों के लिए कोरोना निगेटिव रिपोर्ट या वैक्सीनेशन प्रमाणपत्र अनिवार्य

इस अवसर पर श्रद्धालु मां गंगा के निर्वाण दर्शन कर पुण्य लाभ अर्जित कर सकेंगे। उन्होंने बताया कि इससे पूर्व 14 मई को पूर्वाह्न 11.45 बजे मां गंगा की भोगमूर्ति को डोली यात्रा के साथ मुखबा से रवाना किया जाएगा। शाम को भैरोंघाटी पहुंचकर डोली यात्रा यहां स्थित प्राचीन आनंद भैरव मंदिर में रात्रि विश्राम करेगी। अगले दिन मृग श्री नक्षत्र एवं मिथुन लग्न की शुभ बेला में गंगोत्री मंदिर का कपाटोद्घाटन होगा।

मंदिर समिति के अध्यक्ष सेमवाल ने बताया कि इस बार अक्षय तृतीया का पर्व 14 एवं 15 मई को पड़ रहा है, लेकिन उदय काल 15 मई को होने के कारण इसी दिन मंदिर के कपाट खोले जाएंगे। इस मौके पर मंदिर समिति के सचिव दीपक सेमवाल, संयोजक हरीश सेमवाल, उपाध्यक्ष अरुण सेमवाल, प्रेम बल्लभ, रवि सेमवाल, प्रवीण सेमवाल, अंबरीश, संजय, संजीव, राकेश सेमवाल, सहसचिव राजेश सेमवाल आदि मौजूद रहे।

18 अप्रैल को तय होगा यमुनोत्री के कपाटोद्घाटन का मुहूर्त
इस बार यमुनोत्री एवं गंगोत्री मंदिर के कपाट अलग-अलग तारीख को खुलने की स्थिति बन रही है। पंचांग के अनुसार इस बार अक्षय तृतीया 14 मई के उत्तरार्द्ध से शुरू होकर 15 मई के पूर्वार्द्ध तक है। शुभ मुहूर्त में उदय काल के महत्व को देखते हुए गंगोत्री के तीर्थ पुरोहितों ने 15 मई को गंगोत्री मंदिर के कपाट खोलने का निर्णय लिया है, जबकि यमुनोत्री मंदिर समिति के सचिव पं. सुरेश उनियाल के अनुसार अभी तक यमुनोत्री मंदिर के कपाटोद्घाटन की तिथि 14 मई नियत है। आगामी 18 अप्रैल को यमुना जयंती पर खरसाली में बैठक कर पंचांग के अनुसार तीर्थ पुरोहितों की सर्वसम्मति से कपाटोद्घाटन की तिथि एवं मुहूर्त तय किया जाएगा।

 

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper