चार साल में नहीं हुआ कोई दंगा, पहले शांतिपूर्वक नहीं मनाए जा सकते थे त्योहार: योगी आदित्यनाथ

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को अपनी सरकार के चार वर्ष पूरा होने पर उपलब्धियों का जिक्र करने के साथ विरोधी दलों पर कई मुद्दों को लेकर कटाक्ष भी किया। खासतौर से कानून व्यवस्था के मोर्चे पर वर्तमान सरकार को बेहद सफल बताया। मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले चार साल में प्रदेश में कोई दंगा नहीं हुआ। इस दौरान सभी त्‍योहार भी शांतिपूर्वक मनाए गए। पहले उत्तर प्रदेश में कोई भी त्‍योहार शांतिपूर्वक नहीं मनाए जा सकते थे।

कोरोना के खिलाफ लड़ाई में उप्र सरकार ने कीर्तिमान रचा
मुख्यमंत्री ने कोरोना संक्रमण काल में भी सरकार के सराहनीय कार्यों की सराहना का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण काल में विश्व स्वास्थ्य संगठन से लेकर वैश्विक मीडिया जगत तक में उत्तर प्रदेश की कोरोना संघर्ष रणनीति की सराहना की गई। नि:संदेह इस आपदाकाल में राष्ट्रीय पटल पर एक नया उत्तर प्रदेश उभर कर आया है।

कोरोना के खिलाफ लड़ाई में प्रदेश सरकार ने कीर्तिमान रचा है। देश का सबसे बड़ा प्लाज्मा बैंक आज उत्तर प्रदेश में है। लगातार स्थिति पर हमारी नजर है और प्रदेश की जनता की सुरक्षा के लिए जो भी उचित कदम उठाने होंगे उन पर काम किया जाएगा। हमारी सरकार कोरोना से निपटने के लिए प्रतिबद्ध है।

गन्ना किसानों का किया गया रिकार्ड बकाया भुगतान
मुख्यमंत्री ने किसानों के हित में किए फैसलों का जिक्र करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार ने 2017 से जो कार्यपद्धति आगे बढ़ाई है उसका परिणाम है कि चार वर्षों के दौरान सरकार 1,27,000 करोड़ से अधिक का गन्ना भुगतान करने में सफल रही है। हमने कोरोना काल में सभी 119 चीनी मिलों का सफलतापूर्वक संचालन किया।

हर प्रकार के अपराध में आई कमी, पुलिस रिफॉर्म के भी हुए कार्य
मुख्यमंत्री ने कानून व्यवस्था को लेकर कहा कि उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार की अपराध और अपराधियों के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति का परिणाम रहा है कि प्रदेश में डकैती, लूट, हत्या, बलवा और बलात्कार की घटनाओं में कमी आई है।

उन्होंने कहा कि पुलिस रिफॉर्म में भी हमने अच्छे कार्य किए हैं। वर्षों से पुलिस कमिश्नरी सिस्टम की मांग को लागू करने में सफल रहे हैं। लखनऊ व गौतमबुद्ध नगर पुलिस कमिश्नरी सिस्टम से जुड़े हुए हैं। प्रदेश में 59 नए थाने, 29 नई चौकियां, 04 नए महिला थाने, आर्थिक अपराध शाखा के 04 नए थाने, विजिलेंस के 10 नए थाने, साइबर क्राइम के 16 नए थाने व अग्निशमन के 59 नए केन्द्रों की स्थापना की गई है।

अपराधियों की 750 करोड़ की सम्पत्तियां की जब्त
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में आज सकारात्मक माहौल और अपराधियों में भय है। हमने अपराधियों की 750 करोड़ की सम्पत्तियां जब्त की हैं। भूमाफिया के कब्जे से जमीनें छुड़ाई गईं हैं और उन पर विकास के काम किए जा रहे हैं। यही कारण है कि प्रदेश में आपराधिक मामलों में कमी आई है।

नए कृषि विज्ञान केन्द्रों की स्थापना से लेकर लम्बित परियोजनाएं की पूर्ण
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में 20 नए कृषि विज्ञान केन्द्रों की स्थापना की गई है। प्रधानमंत्री किसान सिंचाई योजना के अंतर्गत दशकों से लम्बित परियोजनाओं को पूरा किया गया है। साथ ही लम्बित 11 सिंचाई परियोजनाएं पूरी हो चुकी हैं। उन्होंने कहा कि इसी तरह प्रदेश में किसानों के हित के लिए कई कदम उठाए गए हैं। खांडसारी उद्योग में लाइसेंस की प्रक्रिया के सरलीकरण व नि:शुल्क प्रदान करने का कार्य किया गया। इस क्रम में 266 नए लाइसेंस उपलब्ध कराए गए हैं।

बिजली व्यवस्था को बनाया बेहतर
मुख्यमंत्री ने कहा कि विद्युत व्यवस्था को बेहतर करने का काम प्रदेश सरकार ने किया है। जिला मुख्यालय को 24 घंटे, तहसीलों को 20-22 घंटे, ग्रामीण क्षेत्रों में 16-18 घंटे विद्युत आपूर्ति हो रही है। वहीं 1.21 लाख गांवों तक बिजली पहुंचाने का काम किया गया है।

दस शहरों में मेट्रो पर काम जारी
उन्होंने कहा कि देश में यातायात को मजबूत करने के लिए पांच अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट और दस शहरों में मेट्रो पर काम जारी है जिसे निर्धारित समय में पूरा कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने मुसहर गांव में बुनियादी सुविधाएं, थारू व कोल समुदाय के गांवों में आवास उपलब्ध कराने का कार्य किया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper