चित्रकूट में श्रीराम-भरत मिलाप की तस्वीरें देखेंगे पीएम, सभी सीमाएं सील

भरतकूप: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राज्यपाल आनंदी बेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शनिवार को बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे के शिलान्यास कार्यक्रम की प्रदर्शनी में भगवान श्रीराम और उनके छोटे भाई भरत के मिलाप की तस्वीरें देखेंगे। प्रधानमंत्री एक बजे चित्रकूट पहुंचेंगे। उनके आगमन पर सभी सीमाएं सील कर दी गई हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे और पाइप लाइन पेयजल योजना का शिलान्यास करने चित्रकूट जिले के भरतकूप क्षेत्र के गोंडा गांव आ रहे हैं। उनके साथ सूबे की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी रहेंगे।

जिलाधिकारी शेषमणि पांडेय ने बताया कि पहले प्रधानमंत्री के भरतकूप तक जाने का कार्यक्रम था, अब उसे निरस्त कर दिया गया है। अब अपने करीब डेढ़ घंटे के कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री गोंडा गांव के शिलान्यास स्थल में डेढ़ बजे दोपहर पूजा-अर्चना के बाद 296 किलोमीटर लंबाई के बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे एवं पाठा क्षेत्र के 470 गांवों को शुद्ध पेयजल पाइप लाइन का शिलान्यास करने के बाद कार्यक्रम स्थल में यूपीडा द्वारा लगाई गई चित्रकूट तीर्थ स्थल के पौराणिक स्थानों की प्रदर्शनी का अवलोकन करेगें, जिसमें खासकर भगवान श्रीराम और उनके छोटे भाई भरत के मिलाप की तस्वीरें लगाई गई हैं।

उन्होंने बताया कि इस प्रदर्शनी में रामघाट, जानकीकुंड, गुप्तगोदावरी, हनुमान धारा, लक्ष्मण पहाड़ी, भरतकूप मंदिर आदि की प्रदर्शनी लगाई गई है। इसके अलावा कृषि विभाग ने चल रही विभिन्न योजनाओं को भी प्रदर्शनी में दशार्या गया है। इस दौरान विभिन्न योजनाओं के पात्र लाभार्थियों को स्वीकृति पत्र और चेक भी बांटेंगे। जिलाधिकारी पांडेय ने बताया कि प्रधानमंत्री के आगमन पर सुरक्षा की दृष्टि से सभी सीमाएं सील कर दी गयी हैं और चप्पे-चप्पे में सुरक्षा बलों की तैनाती की गई है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper