चीनी मीडिया की भारत को धमकी, अमेरिका के साथ जाने पर चुकानी पड़ेगी बड़ी कीमत

नई दिल्ली: भारत और चीन के बीच लद्दाख सीमा पर गतिरोध अभी खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है। ऐसे में चीन की सरकारी मीडिया ने ग्लोबल टाइम्स मुखपत्र के माध्यम से भारत को धमकी दी है। मीडिया ने लद्दाख में तनाव की स्थित के कम होने को सकारात्मक संकेत बताते हुए भारत को हिदायत दी है। ग्लोबल टाइम्स में कहा गया है कि भारत अपनी घरेलू समस्याओं पर ध्यान दे और गुटनिरपक्षता की अपनी नीति को न दोहराय। चीनी अखबार ने न सिर्फ पुरानी नीति को बदले की बात कही है बल्कि अमेरिका से दूर रहने की भी सलाह दे डाली। मुखपत्र ने चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हुआ चुनयिंह के एक बयान को आधार बनाते हुए कहा, चीन और भारत की ओर से सीमा पर तनाव को कम करने की दिशा में कई अहम फैसले लिए जा रहे हैं।

चीनी अखबार ने सीमा विवाद को लेकर दोनों देशों की बातचीत को एक सकारात्मक दिशा में उठाए जा रहे कदम बताते हुए इनका स्वागत किया है। इसके साथ ही ग्लोबल टाइम्स ने कहा, इस तरह से भारत और चीन के आपसी रिश्ते सुधरेंगे साथ ही दोनो देशों के बीच व्यापार के ज्यादा मौके मिलेंगे जो दोनों देशों के लिए मददगार साबित होंगे। इसके साथ ही अखबार में कहा गया की अगर तनाव के चलते रिश्ते खराब होते हैं तो फिर संबंधों को सुधारने की बहुत कम गुंजाइश रह जाएगी।

अखबार ने भारत की विदेश नीति का जिक्र करते हुए कहा, भारत विदेश नीति में गुट निरपेक्षता की नीति का पालन करता आया है। इसके साथ ही अखबार ने भारत को कूटनीतिक स्वतंत्रता बनाए रखने की बात कही।
एक तरफ जहां चीन भारत की विदेश नीति बदलाव और सकारात्मक पहल की बात करता है, वहीं दूसरी तरफ हाल ही में एक इंटरव्यू में भाजपा सांसद नामग्याल ने सीमा क्षेत्र के भारतीय ग्रामीणों से बातचीत के आधार पर बताया कि लद्दाख के डेमचोक गांव के सामने चीन ने अपनी तरफ नया डेमचोक गांव बसा दिया है, जो पहले कभी नहीं था। चीन ने 13 मकान बनाए हैं और सड़क व टैलीकॉम की सुविधा भी शुरू कर दी है। भाजपा सांसद ने कहा कि भारत के दावे का सबसे मजबूत आधार यही है कि सीमा के क्षेत्र में बड़ी संख्या में लंबे समय से हमारे लोग रह रहे हैं। उन्होंने कहा कि भारत सरकार को सीमा क्षेत्र में स्कूल, मैडीकल सुविधा व टैलीकॉम जैसी सुविधाएं शुरू करने की जरूरत है जिससे लोग वहां रह सकें और उन्हें माइग्रेट न करना पड़े।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper