चीन के रक्षा मंत्री फेंघे ने राजनाथ सिंह से मिलने का वक्त मांगा था , 2 घंटे से ज्यादा चली बैठक

नई दिल्ली: वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर जारी तनाव के बीच भारत और चीन की अहम बैठक हुई. रूस की राजधानी मॉस्को में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह अपने चीनी समकक्ष वेई फेंघे से मुलाकात की.चीन के रक्षा मंत्री फेंघे ने राजनाथ सिंह से मिलने का वक्त मांगा था. दोनों नेता इस वक्त शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन (SCO) की बैठक के लिए रूस पहुंचे हुए हैं. राजनाथ सिंह और वेई फेंघे के बीच हुई बैठक 2 घंटे 20 मिनट तक चली.

मई से ही चीन और भारत में तनाव है और तब से अबतक सैन्य-कूटनीतिक लेवल पर कई राउंड की बात हो चुकी है. दोनों देशों के रक्षा मंत्री की ये मुलाकात अबतक की सबसे हाई लेवल मुलाकात रही, जो तनाव शुरू होने के बाद हुई है. रक्षा सचिव अजय कुमार और रूस में भारतीय राजदूत डी बी वेंकटेश वर्मा मॉस्को के एक प्रमुख होटल में हुई वार्ता में भारतीय प्रतिनिधिमंडल का हिस्सा रहे.

बता दें कि जून में गलवान घाटी में जब चीन और भारत के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हुई थी, उसके बाद भी राजनाथ सिंह रूस पहुंचे थे. तब रूस की विक्ट्री परेड का जश्न मनाया जा रहा था. उस वक्त भी चीन के प्रतिनिधि वहां मौजूद थे, लेकिन राजनाथ सिंह ने चीनी अधिकारियों से बैठक नहीं की थी. चीन की ओर से तब भी ऐसी ही मांग की गई थी.

विदेश मंत्री एस. जयशंकर भी कुछ दिन में रूस जाएंगे. वो SCO के विदेश मंत्रियों के सम्मेलन में शामिल होंगे. यहां भी चीन और भारत के विदेश मंत्रियों की मुलाकात हो सकती है. इस मसले पर गुरुवार को विदेश मंत्रालय ने कहा है कि अभी ये मुलाकात तय नहीं है. दोनों देशों के रक्षा मंत्रियों की ये मुलाकात ऐसे समय हुई है जब पूर्वी लद्दाख में कई स्थानों पर तनाव जारी है. चीन ने पांच दिन पहले पैंगोंग झील के दक्षिणी किनारे पर घुसपैठ की कोशिश की थी, जिसे भारतीय सैनिकों ने नाकाम कर दिया था. इसके बाद से दोनों देशों में तनाव और बढ़ गया. हालांकि, दोनों पक्ष कूटनीतिक और सैन्य वार्ता से सीमा विवाद का हल निकालने में जुटे हुए हैं.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper