चीन को बड़ी उम्मीद, 2021 के अंत तक रखा 70 प्रतिशत आबादी का टीकाकरण करने का लक्ष्य

नई दिल्ली: चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) के एक अधिकारी ने कहा कि इस साल के अंत तक चीन में लक्षित आबादी में से कम से कम 70 प्रतिशत को कोविड 19 के खिलाफ टीका लगाए जाने की उम्मीद है। एनएचसी के उप प्रमुख जेंग यिक्सिन ने बताया कि हाल ही में रिपोर्ट किए गए स्थानीय रूप से प्रसारित कोविड 19 मामलों से पता चला है कि महामारी की रोकथाम और नियंत्रण की स्थिति गंभीर बनी हुई है।

जनता से टीकाकरण के बारे में संकोच न करने का आह्वान करते हुए, जेंग ने कहा कि ‘प्रतिरक्षण की महान दीवार’ बनाने के लिए संयुक्त प्रयास किए जाने चाहिए। एनएचसी के आंकड़ों से पता चलता है कि अब तक पूरे चीन में कोविड 19 टीकों की 763 मिलियन से अधिक खुराक दी जा चुकी हैं। दिसंबर 2019 में हुबेई प्रांत के वुहान शहर में महामारी की उत्पत्ति के बाद से, चीन ने अब तक 91,248 पुष्ट कोरोना वायरस मामलों और 4,636 मौतों की सूचना दी है।

उधर, पूरे विश्व में कोरोना के मामले बढ़कर 17.31 करोड़ हो गए हैं। इस महामारी से अब तक कुल 37.2 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हुई हैं। ये आंकड़े जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय ने साझा किए। अपने नवीनतम अपडेट में, यूनिवर्सिटी के सेंटर फॉर सिस्टम साइंस एंड इंजीनियरिंग (सीएसएसई) ने खुलासा किया कि वर्तमान में पूरे विश्व में कोरोना के मामले और मरने वालों की संख्या क्रमश: 173,197,944 और 3,726,107 हैं।

सीएसएसई के अनुसार, दुनिया में सबसे ज्यादा मामलों और मौतों की संख्या क्रमश: 33,362,471 और 597,627 के साथ अमेरिका सबसे ज्यादा प्रभावित देश बना हुआ है। कोरोना संक्रमण के मामले में भारत 28,809,339 मामलों के साथ दूसरे स्थान पर है।

सीएसएसई के आंकड़े के अनुसार, 30 लाख से ज्यादा मामलों वाले अन्य सबसे खराब देश ब्राजील (16,947,062), फ्रांस (5,774,361), तुर्की (5,287,980), रूस (5,067,246), यूके (4,532,802), इटली (4,232,428), अर्जेंटीना (3,955,439), जर्मनी (3,708,782), स्पेन (3,697,981) और कोलंबिया (3,571,067) हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper