चीन ने कहा- सीमा पर शांति बनाए रखना दोनों पक्ष के साझा हित

नई दिल्ली: पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में भारत-चीन सीमा पर तनाव लगातार बना हुआ है. 15 जून की रात को गलवान घाटी में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हुई थी, जिसमें भारतीय सेना के कर्नल संतोष बाबू समेत 20 जवान शहीद हो गए. अब सीमा पर तनाव को लेकर चीन ने एक बार फिर से बयान जारी किया है.

चीन ने कहा कि सीमा पर शांति बनाए रखना दोनों पक्षों के साझा हित में है. लिहाजा दोनों देशों को सीमा पर शांति बनाए रखने के लिए संयुक्त प्रयास करने चाहिए. बुधवार को चीन ने कहा कि भारत और चीन एक-दूसरे के अहम पड़ोसी हैं. इस बीच चीन ने 15 जून को गलवान घाटी में एलएसी पर हुई हिंसक झड़प के लिए भारत को जिम्मेदार ठहराने की कोशिश की.

इसको लेकर चीन के विदेश मंत्रालय और रक्षा मंत्रालय ने अलग-अलग बयान जारी किए. चीन के रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कर्नल वू कियान ने कहा कि दोनों देशों के रक्षा मंत्री फोन पर बातचीत कर रहे हैं. सीमा पर तनाव को कम करने और शांति कायम करने के लिए 22 जून को दोनों देशों के बीच दूसरी सैन्य स्तरीय वार्ता हुई.

वहीं, ताजा सैटेलाइट तस्वीरों से पता चलता है कि भारतीय और चीनी सैनिक गलवान नदी घाटी क्षेत्र में नई पोजीशन्स ले चुके हैं. 15 जून को भारतीय और चीनी सैनिकों के टकराव के बाद ग्राउंड जीरो की हाई रेजोल्यूशन सैटेलाइट तस्वीरों से पता चलता है कि पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ने LAC के पास आक्रामक मुद्रा अपना रखी है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper