चुनाव के दौरान रतन टाटा और भागवत की मुलाकात के मायने क्या ?

नागपुर: दिग्गज उद्योगपति और टाटा संस के पूर्व चेयरमैन रतन टाटा ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सर संघचालक मोहन भागवत से नागपुर में मुलाकात की। संघ के सूत्रों ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। टाटा बुधवार को दूसरी बार संघ मुख्यालय पहुंचे हैं।

इससे पहले वह 28 दिसंबर 2016 को संघ मुख्यालय गए थे। सूत्रों ने कहा कि टाटा मंगलवार को नागपुर पहुंचे थे और संघ प्रमुख भागवत से मुलाकात के बाद बुधवार को वापस लौट गए। संघ के पदाधिकारी ने कहा कि रतन टाटा और भागवत की यह शिष्टाचार भेंट थी।

पिछले साल अगस्त में , टाटा ने संघ के दिवंगत नेता नाना पालकर की जन्मशती के अवसर पर मुंबई में एक कार्यक्रम में भागवत के साथ मंच साझा किया था। उस समय मोहन भागवत ने रतन टाटा के टाटा ग्रुप की तारीख की थी। उन्होंने कहा था कि टाटा ग्रुप का फोकस हमेशा समाज के काम में धन लगाने का रहता है।

रतन टाटा टाटा संस के चेयरमैन एमिरटस है। टाटा ग्रुप की 100 से ज्यादा कंपनियां हैं। टाटा संस इन कंपनियों की होल्डिंग कंपनी है। टाटा ट्रस्ट इन कंपनियों से मिले धन को परोपकार के कामों में लगाता है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper