चुनाव से पहले सपा को लगा करारा झटका, चार एमएलसी ने थामा भाजपा का दामन

लखनऊः उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के ठीक पहले समाजवादी पार्टी को बड़ा झटका लगा है। बुधवार को भारतीय जनता पार्टी में समाजवादी पार्टी के बड़े नेता शामिल हो गए। इनमें चार एमएलसी भी शामिल हैं, जिन्होंने भाजपा का दामन थाम लिया है। इन सभी नेता भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और डा. दिनेश शर्मा रहे मौजूदगी में पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।

सपा के चार विधान परिषद सदस्यों में चन्द्रशेखर के पोते रविशंकर सिंह, सपा सरकार में मंत्री रहे नरेंद्र भाटी, गोरखपुर से एमएलसी सीपी चंद्र तथा झांसी से सपा की एमएलसी रमा निरंजन ने भाजपा का झंडा थाम लिया। इनके साथ उनके समर्थकों ने भी भाजपा की सदस्यता ग्रहण की है। गौरतलब है कि सपा छोड़कर भाजपा में शामिल होने वाले परिषद सदस्यों में अधिकांश सदस्य नगर निकाय क्षेत्र से एमएलसी हैं।

इस मौके पर भाजपा के अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने कहा कि कई दशकों से सपा के वफादारी सिपाही, उसे ताकतवर बनाने वाले लोकप्रिय नेता नरेंद्र भाटी भाजपा में जुड़े हैं। इससे पार्टी मजबूत होगी और सपा का सफाया होगा। रविशंकर के आने से बलिया और आसपास के क्षेत्र में भाजपा मजबूत होगी। सीपी चंद ने भाजपा में वापसी की है। रमा निरंजन के आने से बुंदेलखंड में भाजपा मजबूत होगी। उन्होंने कहा कि आज अखिलेश यादव को नींद नहीं आएगी। उन्होंने भाजपा के पदाधिकारियों तथा कार्यकर्ताओं से कहा कि सपा के चुन-चुनकर उनके सेक्टर से ऊपर तक के कार्यकर्ताओं को भाजपा से जोड़ें।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper