छात्रों को छात्रवृत्ति न मिलने को लेकर प्रियंका गांधी ने योगी सरकार से की मदद की अपील

नई दिल्ली। उत्तरप्रदेश (UP) के छात्रों (Students) को छात्रवृत्ति न मिलने (Not Getting Scholarship) को लेकर प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने योगी सरकार (Yogi Government) से मदद (Help) की अपील की है (Appeals) । उन्होंने कहा, आशा है कि समाज कल्याण विभाग इस मुद्दे को संज्ञान में लेकर फौरी तौर पर इन विद्यार्थियों की छात्रवृत्ति जारी करेगा, ताकि इनकी पढ़ाई बिना किसी बाधा के चलती रहे।

प्रियंका गांधी ने सोमवार को ट्वीट कर कहा, यूपी के लाखों ओबीसी व सामान्य वर्ग के आर्थिक रूप से कमजोर छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति न मिलने की वजह से भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। कई परिवारों ने कर्ज लेकर अपने बच्चों को पढ़ने भेजा था, अब फीस प्रतिपूर्ति न होने से उन पर कर्ज का बोझ बढ़ रहा है।

दरअसल छात्रवृत्ति लेकर पढ़ाई करने वाले छात्र इस दिनों परेशानी से जूझ रहे हैं। यूपी के लाखों छात्रों को सरकार ने फंड की कमी की बता कर मदद से इंकार कर दिया है। हालांकि पहले कहा जा रहा था कि विधानसभा चुनाव के बाद यूपी में योग्य छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति शत प्रतिशत मिलेगी, लेकिन अंत में छात्रों को निराशा हाथ लगी है। इस वर्ष तो जिन विद्यार्थियों का स्कॉलरशिप स्टेट्स वेरीफाई था उन्हें भी छात्रवृत्ति नहीं मिलेगी।

स्कॉलरशिप नहीं मिलने का मुद्दा अब बड़ा होता जा रहा है। 17 अप्रैल को प्रभावित छात्रों ने ट्वीटर पर 90 हजार से ज्यादा ट्वीट करके सरकार का ध्यान अपनी तरफ खींचने की कोशिश की, लेकिन सरकार के किसी मंत्री या फिर समाज कल्याण विभाग के किसी अधिकारी का कोई बयान नहीं आया है। छात्र लगातर प्रदर्शन कर रहे हैं। इसी को लेकर कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने उत्तरप्रदेश सरकार से छात्रों की मदद की अपील की है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-----------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper