छात्र आंदोलन से मुंबई ढप्प

मुंबई: मुंबई में छात्रों ने नौकरी की मांग को लेकर कुर्ला से दादर के बीच रेल लाइन पर कब्जा कर लिया है जिसके कारण कुर्ला से मुंबई तक लोकल ट्रेन और बाहर से आने वाली ट्रेन बाधित हो गई हैं। बढ़ी संख्या में हजारों छात्र नौकरी की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। रेलवे पटरियों पर छात्रों के बैठने से ट्रेनों का आवागमन बाधित हो रहा है और आम-जनजीवन भी प्रभावित हो रहा है। मुंबई सीएसटी से 60 लोकल ट्रेनों को रद्द कर दिया गया वहीं कई गाड़ियां रद्द कर दी गई हैं।

रेलवे ने यात्रियों के लिए हेल्पलाइन शुरू की है मुंबई सेंट्रल लाइन से सफर करने वाले यात्रियों काफ़ी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। प्रशासन ने अतिरिक्त बसें कुर्ला और दादर के बीच चलाने का प्रयास किया है किंतु लोकल ट्रेन के नहीं चलने से आज मुंबई का कारोबार और काम-काज एक तरह से ठप हो गया है। दादर कुर्ला के बीच हजारों यात्री स्टेशन पर फंसे हुए हैं बाहर से आने वाली सभी ट्रेनों को कुर्ला स्टेशन पर रद्द कर दिया गया है। आन्दोलनकारियों को कांग्रेस और एमएनएस का समर्थन मिला है।

मुंबई का यह छात्र आंदोलन काफी तीव्र हो गया है छात्रों की मांग है नौकरी दो या मौत दो रेलवे ने जो परीक्षाएं ली थी उसमें भी भर्ती नहीं होने से छात्र नाराज है इस आंदोलन के कारण कम से कम दो लाख लोग अपने कार्यालयों फैक्ट्री में काम के लिए नहीं पहुंच पाए मुंबई सेंट्रल लाइन से लेकर दादर तक यह आंदोलन बड़ा तीव्र है। पुलिस ने रेलवे लाइन से आंदोलनकारी छात्रों को हटाने के लिए लाठीचार्ज और पुलिस बल का भी इस्तेमाल किया जिसके कारण आंदोलनकारी छात्र भड़क गए हैं।

देखते ही देखते यह आंदोलन मुंबई के अन्य इलाकों में भी पहले लगा है इस आंदोलन को कांग्रेस और एमएनएस ने भी समर्थन दिया है। नौकरी नहीं तो रेल नहीं के नारे के साथ छात्र काफी उग्र हैं। लाठीचार्ज के कारण युवा काफी आक्रोशित होकर मरने मारने के लिए तैयार हो गए हैं जिससे स्थिति तनावपूर्ण हो गई है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper