जज लोया की मौत से जुड़े कागजात थाना से गायब

अखिलेश अखिल

लखनऊ ट्रिब्यून दिल्ली ब्यूरो: अंग्रेजी अखवार की एक रिपोर्ट के मुताबिक सीबीआई जज लोया की मौत के सिलसिले में नागपुर के जिस थाने में मामला दर्ज किया गया था, वहां से जज लोया की मौत से जुड़े सारे रिकॉर्ड गायब हो गए हैं। खबर ये भी है कि जज लोया की मौत से जुड़े रेकॉर्ड के अलावे 2014 के सारे के सारे रिकॉर्ड भी थाना से गायब हैं।

आपको बता दें कि जज लोया सोहराबुद्दीन इनकाउंटर मामले की जांच कर रहे थे। जज लोया इस मामले की सुनवाई की तारीख 15 दिसम्बर 2014 तय की थी लेकिन 1 दिसम्बर को नागपुर में रहस्यमय हालात में दिल का दौरा पड़ने से उनकी मौत हो गई। इसके बाद जज लोया की जगह पर न्यायधीश एमबी गोसवी आये, जिन्होंने दिसम्बर 2014 के अंत में ही अमित शाह को इस मामले में बरी कर दिया।

गौरतलब है कि नागपुर के जिस सीताबुल्डी थाने में जज लोया की मौत का मामला दर्ज हुआ था, वहां के 2014 के सारे रिकॉर्ड गायब हैं। इन रिकॉर्ड में जज लोया की मौत की केस डायरी भी शामिल है। पहली दिसंबर 2014 को ही इस मामले को सीताबुल्डी थाने से नागपुर के सदर थाने में स्थानांतरित कर दिया गया था। जज लोया की मौत की मूल रिपोर्ट को सदर थाने के दस्तावेजों के साथ महाराष्ट्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल किया है। ये मामला महाराष्ट्र की भाजपा सरकार पर सवाल उठाता है।

महाराष्ट्र सरकार ने मामले से सम्बंधित जो रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट में जमा की है उसमें भी कई चीज़े एक-दूसरे के विपरीत हैं। साथ ही मौत से कुछ दिन पहले लोया की सुरक्षा को भी वापस ले लिया गया था। जानकारी के मुताबिक, 20 नवम्बर 2014 से लेकर 2 दिसम्बर 2014 तक लोया की सुरक्षा को हटा दिया गया था। इसी दौरान 1 दिसम्बर 2014 को जज लोया की मौत हो गई। ये बात कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कही थी। सुरक्षा हटाने के बाद सवाल महाराष्ट्र सरकार पर उठता है। उस समय राज्य में भाजपा की ही सरकार थी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper