जब प्रियंका चोपड़ा को मिली थी फिल्म से बाहर होने की धमकी, प्रोड्यूसर ने कह दी थी ये बात

बॉलीवुड एक्ट्रेस और देसी गर्ल प्रियंका चोपड़ा जोनस (Priyanka Chopra Jonas) बॉलीवुड के साथ हॉलीवुड में भी छायी हुई हैं। इन दिनों प्रियंका अपनी किताब को लेकर काफी चर्चा में हैं। प्रियंका की  किताब ‘अनफिनिश्ड’ (Unfinished)  लॉन्च हुई है। प्रियंका ने इस किताब में अपनी लाइफ से जुड़े खास और अलग पहलुओं के साथ-साथ फिल्मों और कलाकारों से जुड़ी कई बातों को फैंस के साथ शेयर किया है। इसी किताब में उन्होंने एक ऐसा किस्सा भी शेयर किया है जब उन्हें फिल्म से बाहर होने की धमकी भी मिली थी।

दरअसल प्रियंका ने अपनी किताब में कई बातों का जिक्र किया है। इसी में से एक है इंडस्ट्री में मेल और फीमेल स्टार्स के बीच फीस का अंतर। इसी बात पर प्रियंका ने किताब में बताया है कि एक वक़्त था जब उन्हें मेल एक्टर से बहुत कम फीस मिली थी और जब उन्होंने इस बात पर सवाल उठाया तो उन्हें फिल्म से बाहर होने की धमकी मिली। हालांकि प्रियंका ने इस बात का भी जिक्र किया कि आखिर इस वजह के चलते भी उन्होंने फिल्म क्यों नहीं छोड़ी।

प्रियंका ने किताब में आगे बताया कि एक फिल्म से मुझे बाहर निकालने की बात थी या मान लीजिये कि मुझे फिल्म से निकलने के लिए कहा गया था। लेकिन मैंने वहाँ बातों में समझौता कर इस फिल्म में बने रहने का फैसला किया था। यहां तक कि फिल्म के मेकर्स की ओर से मुझे बोल दिया गया कि आप चेक नहीं लेंगी जो कि मेरे मेल को एक्टर की तुलना में वाकई कम था। लेकिन हम दोनों का कम बराबर ही था। प्रोड्यूसर ने मुझे कहा कि बहुत ऐसी लड़कियां है है इस मौके को हाथ से नहीं जाने देंगी और फिल्मों में एक्ट्रेस आसानी से बदली जा सकती हैं।

आगे प्रियंका ने इस बात का भी जिक्र किया कि आखिर उन्होंने इस मामले पर आवाज क्यों नहीं उठायी। प्रियंका के इस बात को लेकर आपत्ति नहीं जाहिर करने की वजह थी कि उन्हें ‘इस सिस्टम’ में ही काम करना था। प्रियंका से कहा गया था कि सिर्फ एक यही तरीका है अगर इंडस्ट्री में काम करना है तो। मुझे 15 सालों का वक़्त लगा इस इंडस्ट्री में जब मैं अपनी बात पर खड़ी रहने लायक बनी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper