जब संजय दत्त नशे में धुत होकर घुस गए थे श्रीदेवी के रूम में, श्रीदेवी ने साथ फिल्‍म न करने की खाई थी कसम !

मुंबई: संजय दत्त की गिनती भले ही बॉलीवुड के बेहतरीन एक्टर्स में होती है, भले ही उनकी आज भी बहुत बड़ी फैन फॉलोइंग है, लेकिन ये भी सच है कि उनके लाइफ से जुड़े विवाद भी कम नहीं हैं. शायद इसीलिए उन्हें बॉलीवुड का बैडबॉय भी कहा जाता है. संजय दत्त की ऐसी ही एक कॉन्ट्रोवर्सी श्रीदेवी के साथ भी जुड़ी है, जिनके साथ नशे की हालत में संजय दत्त ऐसी हरकत कर बैठे थे कि श्रीदेवी ने उनके साथ काम न करने की कसम खा ली थी. क्या था पूरा मामला, आइये जानते हैं

. नशे की हालत में किया था संजय दत्त ने तमाशा

दरअसल ये वाकया 80 के दशक का है. संजय दत्त ने तब ‘रॉकी’ फिल्‍म से डेब्‍यू किया था. सुनील दत्त और नरगिस के बेटे होने की वजह से संजय दत्त फ़िल्म इंडस्ट्री में सभी के लाडले थे ही, ‘रॉकी’ की सक्सेस ने उन्हें स्‍टार भी बना दिया. वहीं श्रीदेवी उस दौर की नंबर 1 एक्‍ट्रेस थीं. इसी बीच 1983 में संजय दत्त श्रीदेवी के साथ ऐसी हरकत कर बैठे कि श्रीदेवी इतना डर गईं कि फिर संजय से उनके रिश्ते कभी सामान्य नहीं हो पाए. श्रीदेवी संजू बाबा से इस कदर डरने लगी थीं कि उन्होंने उनके साथ कभी काम न करने की कसम खा ली थी. और ये सारा तमाशा हुआ था संजय दत्त की नशे की आदत की वजह से.

श्रीदेवी के ज़बरदस्त फैन थे संजय दत्तये किस्सा है साल 1983 का. तब श्रीदेवी बॉलीवुड में राज किया करती थीं. उनके फैंस हज़ारों में नहीं लाखों में थे और उन्हीं फैंस में से एक संजय दत्त भी थे. रॉकी की सफलता के बाद संजय स्टार तो बन गए थे, लेकिन अपनी नशे की आदत की वजह से खासे बदनाम भी थे. खैर एक दिन संजय को कहीं से खबर मिली कि श्रीदेवी फ़िल्म ‘हिम्मतवाला’ की शूटिंग मुंबई में कर रही हैं. संजय उस दिन नशे में धुत थे और उनकी इच्छा अपनी फेवरेट एक्ट्रेस श्रीदेवी से मिलने की हो रही थी.

नशे की हालत में श्रीदेवी के चेंजिंग रूम में घुस गए संजय

संजय दत्त ने तय कर लिया क‍ि चाहे जो हो, वे श्रीदेवी से मिलने जाएंगे. वो नशे की हालत में ही फिल्‍म के सेट पर पहुंच गए. जब वह फ़िल्म के सेट पर पहुंचे, तो उन्हें श्रीदेवी वहां नजर नहीं आईं. लेकिन नशे में धुत संजय दत्त पर श्रीदेवी से मिलने का भूत इस कदर सवार था कि उन्हें ढूंढते हुए वो उनके कमरे में घुस गए. श्रीदेवी को अंदाजा भी नहीं था कि ऐसे कोई उनके कमरे में घुस जाएगा. संजय दत्त को नशे की हालत में देखकर वो बुरी तरह डर गईं.

श्रीदेवी ने तुरन्त सिक्युरिटी को बुलाया, तब कहीं जाकर संजय को उनके कमरे से बाहर किया जा सका. बाद में एक इंटरव्‍यू में जब संजय दत्त से इस घटना के बारे में पूछा गया तो उन्‍होंने कहा, ‘मैं उनके कमरे में गया जरूर था, लेकिन मैंने वहां उनसे क्‍या बात की, कैसे बर्ताव किया, मुझे कुछ याद नहीं है.’

श्रीदेवी ने संजय के साथ कभी काम न करने की कसम खा ली

खैर इस इंसिडेंस के बाद श्रीदेवी ने फैसला कर लिया था क‍ि वह कभी संजय के साथ काम नहीं करेंगी. तब श्रीदेवी टॉप पर थीं तो अपनी शर्तों पर काम करती थीं. लेकिन एक दौर ऐसा भी आया कि संजय दत्त का स्‍टारडम भी आसमान की ऊंचाइयां छूने लगा. ऐसे में श्रीदेवी को ना चाहते हुए भी संजय दत्त के साथ एक फिल्म ‘जमीन’ साइन करनी पड़ी. हालांकि, श्रीदेवी इस शर्त पर ये फ़िल्म साइन की थी कि संजय के साथ वो फिल्म में कोई भी सीन नहीं करेंगी. यह अलग बात है कि किन्‍हीं कारणों से वह फिल्‍म बन ही नहीं पाई.

श्रीदेवी ने ‘गुमराह’ से संजय को निकलवाने की कोशिश कीइसके बाद श्रीदेवी को संजय के साथ महेश भट्ट ‘गुमराह’ फिल्‍म में काम करना पड़ा. बताया जाता है कि जब महेश भट्ट श्रीदेवी के पास फिल्‍म का ऑफर लेकर गए, तब पहले तो उन्‍होंने फिल्म से संजय दत्त को निकालने की शर्त रखी. लेकिन महेश भट्ट राजी नहीं हुए. दरअसल तब संजय का सक्सेस ग्राफ तब तेजी से बढ़ रहा था और श्रीदेवी की चमक फीकी पड़ने लगी थी. इसलिए उन्हें संजय के साथ ये फ़िल्म साइन करनी पड़ी. लेकिन कहते हैं कि सेट पर श्रीदेवी और संजय दत्त के बीच कोई बातचीत नहीं होती थी. सीन शूट होता तो कट बोले जाने के तुरंत बाद ही श्रीदेवी संजय से दूरी बना लेतीं.

… और उनके रिश्ते कभी नॉर्मल नहीं हुए

खैर, फिल्‍म रिलीज हुई और जबरदस्‍त हिट भी साबित हुई. दर्शकों को संजय-श्रीदेवी की जोड़ी बहुत पसंद आई. समय के साथ दोनों के रिश्‍ते पहले से बेहतर तो हुए, लेकिन कभी सामान्‍य नहीं हुए. संजय ने भी अपनी तरफ से कभी इसके लिए कोशिश नहीं की.

Source: Meri Saheli 

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper