जमातियों ने फैलाया कोरोना का संक्रमण, 11 टीमों कि कारगुजारी आई सामने

लखनऊ : कोरोना वायरस का संक्रमण लखनऊ में फैलाने के पीछे जमातियों की 11 टीमें थीं। सभी टीमें कैसरबाग की मरकज मस्जिद में आयोजित धार्मिक जलसे में आई थीं, जहां से ज्यादातर लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हुए। जलसे के बाद टीमें शहर की अलग-अलग मस्जिदों में ठहरीं और वायरस अन्य लोगों में फैलाया। पुलिस और खुफिया विभाग की छानबीन में यह सनसनीखेज जानकारी सामने आई है। कहा जा रहा है कि धार्मिक जलसे में शामिल होने आई जमातियों की 11 टीमें राजधानी के शहरी व ग्रामीण क्षेत्र की 1200 से अधिक मस्जिदों व मदरसों में गई थीं। पुलिस टीमों ने इन सभी मस्जिदों और मदरसों की छानबीन की है।

लखनऊ का असर अब तक महामारी से अछूते रहे सीतापुर जिले में भी दिख रहा है। सीतापुर में दिल्ली तब्लीगी जमात से आए आठ मौलानाओं की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। सभी को क्वारंटीन सेंटर से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र खैराबाद में भर्ती कराया गया है। ये जमाती अस्पताल में माहौल भी खराब कर रहे हैं। अब खुफिया विभाग के अधिकारी यह पता लगाने का प्रयास कर रहे हैं कि जमातियों की 11 टीमों और वायरस संक्रमण फैलने के पीछे कोई साजिश तो नहीं है।

कैसरबाग की मरकज मस्जिद में धार्मिक जलसे में बांग्लादेश, कजाकिस्तान और किर्गिस्तान के 24 नागरिकों के अलावा दिल्ली, सहारनपुर, गोंडा, बस्ती, हरिद्वार, जयपुर और हरियाणा से आए जमाती शामिल हुए थे। यह जमाती अलग-अलग 11 टीम के रूप में यहां आए थे। जलसे के बाद सभी अलग-अलग मस्जिदों में ठहरने गए। कजाकिस्तान और किर्गिस्तान के नागरिक मरकज मस्जिद में ही रुके जबकि बांग्लादेश के जमातियों को काकोरी की जामा मस्जिद और मड़ियांव की मकवा मस्जिद में ठहराया गया था।

विदेशी जमातियों के पकड़े जाने और उनसे पूछताछ के बाद ही पुलिस ने सदर की अली जान मस्जिद में ठहरे सहारनपुर के 12 जमातियों को पकड़कर उनके सैंपल लेने के साथ ही सभी को क्वारंटीन कराया था।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper