जरा ध्‍यान से देखिए, ये कोई आम फोटो नहीं है, इसने दुनियाभर में मचा दिया है बवाल

नई दिल्ली: सोशल मीडिया एक ऐसा मीडियम है जिससे कोई भी साधारण सी दिखने वाली चीज़ पूरी दुनिया में तहलका मचा सकती है और पूरी दुनिया को हिलाकर रख सकती है। ऐसा कुछ इस साधारण से मां और बच्चों की तस्वीर के साथा हुआ, इस साधारण सी दिखने वाली तस्वीर ने पूरी दुनिया में तहलका मचा रखा है। बेशक यह तस्वीर दिखने में साधारण सी लग रही हो लेकिन यह तस्वीर साधारण नहीं है। आप भी देखे यह तस्वीर और जानें आखिर क्या खास बात है इस तस्वीर में।

दरअसल आप जब इस तस्वीर को देखेंगे तो आपको पता चलेगा कि इसमें एक मां अपने दो बच्‍चे के साथ सो रही है। सोशल मीडिया के जरिए यह तस्वीर पूरी दुनिया में वायरल हो रही है। यूक्रेन में रहने वाले डेविड ब्रिनले ने अपने पत्नी और बच्चों की इस तस्वीर को सोशल मीडिया पर अपलोड किया था। इस तस्वीर में एक महिला अपने बच्चों के साथ सो रही है। जो बेहद साधारण सी फोटो है।

लेकिन तस्वीर के नीचें लिखे कैप्शन ने इसको पूरी दुनिया में वायरल कर दिया। इस तस्वीर के कैप्‍शन में लिखा गया था कि मैं कुछ बातों को साफ़ कर देना चाहता हुं कि, जो चीजें मेरी पत्नी को माँ बनाती हैं वो मुझे पसंद हैं। वो जो भी हमारे बच्चो के लिए करती हैं वो सब मुझे पसंद है। मैं इससे नीचा महसूस नहीं करता हूं, कभी कभी तो मुझे बिस्‍तर के कोने में ही सोना पड़ता है लेकिन बच्‍चों के प्रति उसके प्‍यार को देखकर मैं बहुत ही ज्यादा खुश हूं।

इस कैप्शन के पढ़ते ही लोगों का गुस्सा मानों उन पर फूट पड़ा हो। लोगों ने उनसे बहस करना शुरु कर दिया। कुछ लोगों का कहना था कि बच्‍चों के साथ ऐसे सोने पर वो जिद्दी हो जाते हें। जिसके बाद ब्रिंकले ने सबको रिप्लाई देते हुए कहा कि, मुझे मेरी पत्नी और बच्चो को ऐसे सोता देखना पसंद है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper