जहरीली शराब पीने से सेवानिवृत्त दरोगा समेत चार की मौत

लखनऊ ब्यूरो। उत्तर प्रदेश के कानपुर जनपद में सचेंडी थानाक्षेत्र में जहरीली शराब पीने से सेवानिवृत्त दरोगा समेत चार लोगों की मौत हो गई। जबकि दर्जनभर से अधिक लोगों की हालत नाजुक बनी हुई है। घटना की जानकारी मिलते ही जिलाधिकारी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक समेत अफसर अन्य शराब ठेके पर पहुंचकर जांच पड़ताल कर रहे हैं।

सचेंडी थानाक्षेत्र स्थित दूल गांव में श्याम बालक यादव का देशी शराब का ठेका है। बीती रात ठेके से शराब लेकर ग्रामीणों ने शराब पी। शराब पीने से दूल गांव में रहने वाले व एक साल पूर्व पुलिस विभाग से दरोगा पद से सेवानिवृत्त हुए जगजीवन (65), किसान रचनेश शुक्ला (44), भौंती निवासी प्राइवेट कर्मी राजेन्द्र कुमार तोमर (45) व हेतपुर गांव निवासी उमेश यादव (35) के साथ गांव के आधा दर्जन लोगों की तबीयत बिगड़ गई। परिजन जब तक कुछ समझ पाते सेवानिवृत्त दरोगा जगजीवन, किसान रचनेश, प्राइवेट कर्मी राजेन्द्र व उमेश की मौत हो गई। जबकि आधा दर्जन की हालत खराब होने पर उन्हें हैलट अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं जहरीली शराब पीने से अन्य पीडि़त लोगों कल्याणपुर सीएचसी में दाखिल किया गया है।

मामले की जानकारी पर शनिवार सुबह जिलाधिकारी सुरेन्द्र सिंह, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अखिलेश कुमार, उप आबकारी आयुक्त, मुख्य चिकित्सा अधिकारी टीमों के साथ गांव पहुंचे। गांव में मृतकों के परिजनों व प्रधान से मामले को लेकर पूछताछ की गई। वहीं अधिकारियों ने ठेके पर पहुंचकर छानबीन की। प्रथम दृष्टया ठेके को सील करते हुए मौजूद शराब भंडारण का सैम्पल लेकर जांच के लिए भेजा जा रहा है।

जिलाधिकारी ने बताया कि ग्रामीणों के मुताबिक जहरीली शराब पीने से मौतें हुई हैं। मामले की जांच की जा रही है। पुलिस ने ठेके संचालक को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। मामले में एसएसपी का कहना है कि मृतकों के शवों को पोस्टमार्टम भेजा जा रहा है। रिपोर्टज़् आने पर मौत का कारण स्पष्ट हो जाएगा। जिसके बाद आगे की कार्यवाही की जाएगी।

जहरीली शराब की घटना को मुख्यमंत्री ने लिया संज्ञान, दो-दो लाख की दी आर्थिक मदद

जहरीली शराब की घटना को मुख्यमंत्री ने गंभीरता से लिया। इसके साथ ही जिलाधिकारी को तत्काल मृतकों के परिजनों और पीडि़तों को राहत देने का फरमान सुनाया, जिसके बाद जिलाधिकारी ने मुख्यमंत्री राहत कोष से घटना में चार मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख और करीब आधा दर्जन अस्पताल में जीवन मौत से संघर्ष कर रहे पीडि़तों को 50-50 हजार रुपए की आर्थिक मदद उपलब्ध करा दी।

जहरीली शराब पीने से हुई मौतों की खबर पाकर जिलाधिकारी सुरेन्द्र सिंह सहित आलाधिकारी हैलट अस्पताल पहुंचे और जिलाधिकारी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जानकारी दी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper