जाकिर नाइक ने फिर उगला जहर, कहा-इस्लाम पर टिप्पणी करने वाले गैर मुस्लिम भारतीयों को गिरफ्तार कर जेल भेजो

नई दिल्ली: मुस्लिम उपदेशक जाकिर नाइक मलेशिया में बैठकर भी जहर उगलना जारी रखे हुए है। उसकी एक वीडियो वायरल हुई है जिसमें वह गैर-मुस्लिमों को मुस्लिम देशों के दबदबे की धमकी देता सुना जा रहा है। वीडियो में जाकिर नाईक कहता सुनाई दे रहा है कि अगर कोई गैर-मुस्लिम सोशल मीडिया पर इस्लाम के विरोध में कुछ लिखता है तो उसे मुस्लिम देश में आने पर गिरफ्तार कर लिया जाए।

वीडियो में जाकिर ने बताया कि कुवैत के एक वकील ने लोगों से कहा कि अगर खाड़ी देश में कोई गैर-मुस्लिम अगर इस्लाम की बुराई करता है तो उसकी सूचना उस तक पहुंचाई जाए, उन्हें कानून के दायरे में लाया जाएगा। वह बताता है कि यह वकील जिनेवा में मानवाधिकार के मुद्दे भी उठाता है। जाकिर उस वकील की तारीफ करते हुए एक सुझाव देता है कि उसे भारत में भी उन गैर-मुस्लिमों का एक डेटाबेस तैयार करना चाहिए जो इस्लाम पर उंगली उठाते हैं।

जाकिर ने सभी हदें पार करते हुए यहांतक कहा कि सिर्फ मुस्लिम देशों में ही क्यों, भारत में भी जो गैर-मुसलमान इस्लाम पर उंगली उठाता है तो उसका डेटाबेस तैयार किया जाना चाहिए। जाकिर आगे कहता है भारत में इस्लाम पर उंगली उठाने वाले मुख्य रूप से बीजेपी से जुड़े लोग हैं और उनमें से ज्यादातर लोग पैसे वाले हैं।

उल्लेखनीय है कि देशभर में जारी कोरोना संकट के बीच दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष जफरूल इस्लाम खान ने हाल ही में मुस्लिम कट्टरपंथी जाकिर नाइक ) को हीरो बताकर नया विवाद खड़ा कर दिया था। सोशल मीडिया पर खान के इस बयान को लेकर सवाल उठाए गए। दरअसल, दिल्ली अल्पसंख्य आयोग के अध्यक्ष खान ने फेसबुक पर अपने एक पोस्ट में हिंदुत्व का कट्टर विचार रखने वाले लोगों पर सवालिया निशान लगाते हुए भारतीय मुस्लिमों के साथ खड़े होने के लिए कुवैत की प्रशंसा की।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper