जानिए क्या कहते है सड़क पर लगे “मील के पत्थर” के अलग अलग रंग

आप सबने शायद “मील का पत्थर” कही न कही सुना होगा।अक्सर हमें लगता था कि ये तो शायद कोई मुहावरा है, जब पढ़ने लगे तो ये मुहावरा भी निकला और मील का पत्थर भी। दोस्तों जब भी कभी हम सड़क पर लम्बी यात्रा पर जाते हैं तो अक्सर हमारा ध्यान सड़क किनारे लगे मील के पत्थरों पर जाता है। जैसे-जैसे सफर पर हम आगे बढ़ते हैं हमें इनसे पता चलता रहता है कि हमारी मंजिल अब कितनी दूर रह गई है। इन पर आने वाली जगह के नाम के साथ-साथ उनके बीच की दूरी और कई तरह के निशान लगे होते हैं।

इसके साथ ही इन मील के पत्थरों का रंग भी अलग-अलग होता है। ये पत्थर यात्रियों के लिए एक मार्कर का काम करते हैं। ये बताते हैं कि क्या आप सही दिशा में चल रहे हैं या आपकी मंजिल और कितनी दूर है? ज्यादातर ये पत्थर हर किलोमीटर पर लगाए जाते हैं लेकिन इनके अलग-अलग रंग का भी खास मतलब होता है।कहीं आपको पीले रंग के पत्थर दिखेंगे तो कहीं हरे, काले और नारंगी लेकिन इन हर रंग के पत्थरों का अलग-अलग मतलब होता है जो कि यात्रियों को कुछ सूचना देने के लिए होता है।

जब भी कभी हम सड़क पर लम्बी यात्रा पर जाते हैं तो अक्सर हमारा ध्यान सड़क किनारे लगे मील के पत्थरों पर जाता है। जैसे-जैसे सफर पर हम आगे बढ़ते हैं हमें इनसे पता चलता रहता है कि हमारी मंजिल अब कितनी दूर रह गई है। इन पर आने वाली जगह के नाम के साथ-साथ उनके बीच की दूरी और कई तरह के निशान लगे होते हैं। इसके साथ ही इन मील के पत्थरों का रंग भी अलग-अलग होता है। ये पत्थर यात्रियों के लिए एक मार्कर का काम करते हैं। ये बताते हैं कि क्या आप सही दिशा में चल रहे हैं या आपकी मंजिल और कितनी दूर है?

ज्यादातर ये पत्थर हर किलोमीटर पर लगाए जाते हैं लेकिन इनके अलग-अलग रंग का भी खास मतलब होता है। कहीं आपको पीले रंग के पत्थर दिखेंगे तो कहीं हरे, काले और नारंगी लेकिन इन हर रंग के पत्थरों का अलग-अलग मतलब होता है जोकि यात्रियों को कुछ सूचना देने के लिए होता है। लाल रंग का पत्थर आपको दिखाई दे तो समझ जाइए कि ये सड़क प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत बनी है। इससे पता चलता है कि आप किसी गांव की तरफ बढ़ रहे हैं।

हरे रंग का पत्थर जब नजर आए तो आपको समझ लेना चाहिए कि आप नेशनल हाईवे पर नहीं बल्कि स्टेट हाईवे पर सफर कर रहे हैं। दूरी बताने वाले पत्थर पर हरे रंग का मतलब है स्टेट हाईवे। अगर दूरी बताने वाले पत्थर का रंग पीला दिखे तो आप समझ लीजिए कि आप नेशनल हाईवे पर सफर कर रहे हैं। यानी जिस हाईवे पर आप सफर कर रहे हैं वो केंद्र सरकार ने बनवाई हैं और इस हाईवे की देख रेख का जिम्मा भी केंद्र सरकार का ही है।

अगर दूरी बताने वाले पत्थर पर काला रंग दिखाई दे तो आप समझ लीजिए कि आप किसी बड़े शहर या फिर जिले की तरफ बढ़ रहे हैं।इसके अलावा वो रोड आने वाले जिले के अंतर्गत आती है और उस रोड की सारी जिम्मेदारी उस जिले की ही होती है।

तो जो लोग इन पत्थरों के बारे में नहीं जानते थे उनके लिए ये जानकारी बहुत नई है, क्योंकि बहुत सारी चीज़ें ऐसी होती हैं, जिनकी जानकारी हमें नहीं मिल पाती, लेकिन जब हम उससे रूबरू होते हैं या फिर उससे ख़ुद को जोड़ते हैं तो उसकी सभी जानकारियां हमें मिल सकती हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper