जानिए 19 जनवरी को क्या कहती है आपकी राशि

।।आज का पञ्चाङ्ग।।
दिन शुक्रवार
ऋतु-शिशिर
माह-माघ
सूर्य-उत्तरायण
सूर्योदय-06:40
सूर्यास्त-05:20
राहूकाल(अशुभ समय)प्रातः
10:30 से 12:00बजे तक
पक्ष-शुक्ल
तिथि-द्वितीया
दिशाशूल-पश्चिम व दक्षिण
शुभदिशा-पूर्व व उत्तर
अभिजितमुहूर्त-दोपहर
12:10 से 12:53 तक
अमृतमुहूर्त-प्रातः09:53 से 11:12 तक

।।आज का राशिफल।।
मेष :- आज व्यापार उत्तम रहेगा। आज आपको अपने कार्य में संतोष का अनुभव होगा। स्त्रियों की ओर से सम्मान मिल सकता है।यात्रा से स्वास्थ्य प्रभावित हो सकता है।
सुझाव:-आज आप मूंग की दाल व सेंधा नमक का दान करें।
राशिरत्न:-मूँगा
शुभरंग:-स्लेटी

वृष :- आज विदेश जाने के इच्छुक व्यक्ति के लिए अच्छी सुरुवात हो सकती है। व्यवसाय मेंआर्थिक लाभ होने की संभावना है।पारिवारिक शांति बनी रहेगी।
सुखद समाचार मिल सकेगा।
सुझाव:-आज आप तिलोदक से भगवान शिव की अर्चना करें।
राशिरत्न:-हीरा,ओपल
शुभरंग:-फिरोजी

मिथुन :-आज व्यापार से लाभ व हानि दोनों होने की संभावना बन सकती है। वाणी पर संयम रखने से वाद-विवाद को टालने मे ही भलाई है। खर्च अधिक होने से आर्थिकरूप से तंगी का अनुभव कर सकते हैं।पारिवारिक वातावरण मांगलिक होगा।
सुझाव:-आज आप किसी गरीब बच्चे को भर पेट भोजन करावें तथा उसे कुछ द्रव्य दान करें।
राशिरत्न:-पन्ना
शुभरंग:-हरा

कर्क :- आज का दिन मित्रों और स्वजनों के साथ आनंदपूर्वक बिता सकेंगे। मनोरंजक प्रवृत्तियों का भी आनंद प्राप्त होगा। आय के क्षेत्र में भी लाभ होने की संभावना प्रबल बन रही है, साझेदारों से हानि हो सकती है। व्यक्ति विशेष से लाभ होगा।
सुझाव:-आज आप मेंहदी का दान किसी सुहागन स्त्री को करें।
राशिरत्न:-मोती
शुभरंग:-नीला

सिंह:-आज आप का शैक्षिक जीवन प्रभावित हो सकता है। । शंका और उदासी छायी रह सकती है। किसी कारणवश दैनिक कार्यों में विध्न आने की उम्मीद। व्यवसाय में सहकर्मियों के सहयोग से आज वंचित रहना पड़ सकता है।
सुझाव:-आज आप लाल रुमाल दान करें।
राशिरत्न:-माणिक्य
शुभरंग:-महरून

कन्या:- आज व्यापारिक समझौते थोड़े विलंब से हो सकेंगे।विद्यार्थियों के बेहद अनुकूल दिन रहेगा। संतानों के विषय में आपको चिंता रह सकती है। शेयर-सट्टे से आज आप बिलकुल दूर रहें। आज मन में खिन्नता का अनुभव हो सकता है।
सुझाव:-आज आप 11 हनुमान चालीसा का पाठ करें।
राशिरत्न:-पन्ना
शुभरंग:-श्वेत

तुला:- आज आप का व्यपार सामान्य रहेगा।शारीरिकरूप से शिथिलता और मानसिकरूप से व्यग्रता का अनुभव हो सकता है। स्थायी संपत्ति से सम्बंधित कार्य सावधानी से करें। संभव हो तो आज यात्रा आज टालें।
सुझाव:-आज आप केशर मखाना युक्त खीर माता महा लक्ष्मी को लगावें।
राशिरत्न:-हीरा,ओपल
शुभरंग:-नारंगी

वृश्चिक:- आज नए कार्य के प्रारंभ के लिए आज का दिन शुभ है। दिनभर चित्त की प्रसन्नता बनी रहेगी। भाई-बंधुओं के साथ घरेलू विषयों पर आवश्यक चर्चा करेंगे। आर्थिक लाभ तथा भाग्यवृद्धि के योग हैं। छोटी यात्रा के योग बन सकते हैं।
सुझाव:-आज आप मूंगफली का दान करें।
राशिरत्न:-मूँगा
शुभरंग:-समुद्रिहरा

धनु:-आज आपका व्यापर उत्तम रहेगा। पारिवारिक वातावरण क्लेशपूर्ण रह सकता है। निर्धारित कार्यों को पूर्ण न कर पाने से मन में हताशा बनी रहेगी। किसी महत्वपूर्ण निर्णय को आज न ले।
सुझाव:-आज जलेबी का दान करें।
राशिरत्न:-पुखराज
शुभरंग:-पर्पल

मकर:- आज प्रातकाल का प्रारंभ ईश्वर स्मरण के साथ होने से मन प्रफुल्लित रहेगा। पारिवारिक वातावरण मंगलमय रहेगा। मित्रों, स्नेहीजनों से आपको उपहार मिल सकता है। व्यावसायिक और व्यापार के स्थान पर आपका प्रभाव बना रहेगा। व यात्रा का शुभयोग बन सकता है।
सुझाव:-आज आप नारियल मिश्री का दान करें।
राशिरत्न:-नीलम
शुभरंग:-केशरिया

कुंभ:- आज कानूनी कार्यों में लाभ की संभावना है। परिजनों के साथ कलह मनमुटाव होने की आशंका है। धन के लेनदेन या पूंजी निवेश करते समय सचेत रहें तो बेहतर होगा। शायं काल तक शुभ समाचार मिल सकता है।
सुझाव:-आज आप मटर की दाल दान करें।
राशिरत्न:-नीलम
शुभरंग:-जामुनी

मीन :-आज आकस्मिक धनलाभ की संभावना बन सकती है। संतान के विषय में शुभ समाचार प्राप्त होंगे। बचपन के या पुराने मित्रों के साथ भेंट होने से आनंद छाया रहेगा। नए मित्रों से भी संपर्क लाभ प्रद होगा।सुदूर यात्रा के योग है।
सुझाव:-आज आप बादाम का दान करें।
राशिरत्न:-पुखराज
शुभरंग:-पीला

।।आज के दिन का विशेष महत्व।।
1 आज शिशिर ऋतु माघ माह शुक्लपक्ष द्वितीया तिथि है।
2 आज से पंचख प्रारंभ हो रहा है।
।।प्रेरणादाई चौपाई।।
उठे लखनु प्रभु सोवत जानी। कहि सचिवहि सोवन मृदु बानी।।
अर्थ:-जब लक्ष्मण जी ने देखा कि प्रभु सो गए तो अब पाँव दबाना ठीक नही है क्योंकि पाँव दबाने से नींद टूट जाती है और सुमन्त जी को भी मृदु वाणी से सोने के लिए कह दिया।और थोड़ी ही दूर पर लखन भैया धनुष और बाण लेकर वीरासन से बैठ के पहरा देने लगे।

“अस्तु अपने बड़े भाई की सेवा करने के उपरांत लखन लाल जी उनकी रक्षा हेतु सजग प्रहरी की भाँति बैठ गए। अनुकरणीय है लखन लाल जी का भ्रात प्रेम “।

।।वास्तु टिप विशेष।।
आपका भवन यदि बहु मंजिला का है ,तो गृह स्वामी का शयनकक्ष किसी भी मंजिल पर दक्षिण -पश्चिम अर्थात नैऋत्य कोण में ही होना चाहिए।

।।इति शुभम्।।
।।आचार्य स्वामी विवेकानन्द।।
।।ज्योतिर्विद, वास्तुविद व सरस् कथा व्यास।।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper