जाने कैसे सांप के कान नहीं होते फिर भी सांप कैसे सुन लेते हैं बीन की धुन

अक्सर आपने जीवन में सांप को बिन की धुन सुनकर नाचने लगते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि सांप के कान नहीं होते हैं। अब सवाल यह उठता हैं कि सांप के कान नहीं होने पर भी आखिर सांप कैसे बीन की धुन पर नाचने लगते हैं। आज हम आपको इसके बारे में बताने जा रहे है।

सांप हवा में मौजूद ध्वनि तरंगों पर रिएक्शन नहीं देते, बल्कि धरती से निकलने वाले कंपन यानि वाइब्रेशंस को अपने जबड़े में पाई जाने वाली एक ख़ास हड्डी के ज़रिये महसूस करते हैं। सांप केवल हिलती-ढुलती चीजों को साफ़ देख पाते हैं।

सपेरा जब बीन को बजाते हुए उसे इधर-उधर करता है, तो बीन के साथ-साथ सांप भी हिलता-ढुलता है और लोग यह समझते हैं कि सांप बीन की धुन पर नाच रहा है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper