जाने शव को जलाते समय मृतक के सर पर क्यों मारा जाता है डंडा

हमारे हिंदू धर्म में कई रीति-रिवाज और रस्मे निभाई जाती हैं। हिंदू धर्म में जब किसी व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है तो उसका अंतिम संस्कार किया जाता है जिसमें व्यक्ति के शव को मुखाग्नि देकर जला दिया जाता है। आज हम यहां उन्हीं रीति-रिवाज में से एक रिवाज की बात कर रहे हैं कि अंतिम क्रिया के दौरान मृतक के शव को जलाने के वक्त उनके सर पर डंडा क्यों मारा जाता है।

सिर पर क्यों मारते हैं डंडा

शव को जलाते वक्त मृतक व्यक्ति के सर पर डंडा मारा जाता है। अब सवाल ये उठता है कि आखिर शव के सर पर डंडा क्यों मारा जाता है? दरअसल कहा जाता है कि मृतक व्यक्ति के सर पर डंडा इसलिए मारा जाता है ताकि अगर मृतक व्यक्ति के पास किसी तरह का कोई तंत्र विद्या होगा तो कोई दूसरा तांत्रिक इस विद्या को चुरा ना ले। उसकी आत्मा को अपने वश में ना कर ले। क्योंकि संभव है कि कोई तांत्रिक उस आत्मा को अपने वश में कर लेने के बाद उससे किसी भी तरह के बुरे कार्यों को अंजाम दे सकता है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper