जासूस निशांत को आईएसआई ने अमेरिका में नौकरी का दिया था ऑफर

लखनऊ ब्यूरो । स्वदेशी सुपरसोनिक मिसाइल ब्रह्मोस का डाटा पाकिस्तान खुफिया एजेंसी को लीक करने के आरोप में गिरफ्तार किये गए ब्रह्मोस एयरोस्पेस इंजीनियर निशांत को अमेरिका में अच्छी नौकरी का ऑफर मिला था। यह ऑफर डिफेंस की एक महिला पत्रकार ने दिया था, जो आईएसआई संगठन के लिए काम करती है। इसके बाद निशांत ने देश से जुड़ी कई गोपनीय जानकारियां उस महिला को दी थीं।

ट्रांजिड रिमांड पर लिए गये ब्रह्मोस एयरोस्पेस इंजीनियर निशांत अग्रवाल ने एटीएस को बताया कि उसे दो फेसबुक एकाउंट के जरिये हनीट्रैप में फंसाया गया था। पाकिस्तान के इस्लामाबाद से संचालित फेसबुक एकाउंट में एक नेहा शर्मा और दूसरी पूजा रंजन के नाम से था। दो साल पहले वह फेसबुक के जरिये उनसे जुड़ा था। फेसबुक में एक महिला ने उसे बताया कि वह पत्रकार है और डिफेंस की रिपोर्टिंग करती है।

उसने इसके बाद इंजीनियर ने ब्रह्मोस एयरोस्पेस व देश की गोपनीय बातें बताने के लिए कहा। इस एवज में उसे अमेरिका में एक अच्छी नौकरी देने का लालच भी दिया गया था। नौकरी की लालच में आकर निशांत ने देश से जुड़ी कई गोपनीय जानकारियां उस महिला पत्रकार को दी, जो आतंकी संगठन आईएसआई के लिए काम करती थी। निशांत के लैपटॉप में पीडीएफ फॉर्मेट में गोपनीय जानकारियां मिली हैं। इनमें विभिन्न विशेषज्ञों की तरफ से की गई रेड मार्किंग भी दर्ज थी।

जांच अफसर ने बताया कि जानकारी इतनी संवेदनशील थी कि उन्हें साझा करना देश की सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा पैदा कर सकता है। हालांकि एटीएस जासूस निशांत को ट्रांजिट पर रिमांड में लेकर लखनऊ लाया जा रहा है। उसे रुड़की पैतृक गांव भी ले जाया जायेगा।

एटीएस के एसएसपी ने जोगेन्द्र कुमार ने कहा कि गिरफ्तार निशांत से बीएसफ अच्युतानंद से आमना-सामना कराया जायेगा। इससे जुड़ी कई जानकारियां मिलेंगी। इसके अलावा कानपुर और आगरा से हिरासत में लिये गए वैज्ञानिकों के मोबाइल और लैपटॉप ले लिया गया है। फिलहाल निशांत को लखनऊ की एटीएस कोर्ट में पेश किया जायेगा जहां उसकी पुलिस कस्टडी रिमांड के लिए अर्जी दी जायेगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper